19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर पाक में हुए हमले में वांछित आतंकी को मार गिराया
02-08-2012

लाहौर। श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर पाकिस्तान में 2009 में हुए हमले में वांछित आतंकी को पंजाब प्रांत में पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। कानून लागू करने वाली एजेंसियों को बुधवार को सूचना मिली थी कि कुछ आतंकी लाहौर की ओर आ रहे हैं। इसके बाद एजेंसियों ने लाहौर से करीब 400 किलोमीटर दूर मुल्तान में वाहनों की चेकिंग शुरू की। एक बस की चेकिंग के दौरान एक यात्री ने बचकर भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस और इस व्यक्ति के बीच गोलीबारी प्रारंभ हो गई और वह घटनास्थल पर ही मारा गया। मृतक की पहचान अब्दुल गफार क्वैसरानी उर्फ सैफुल्ला के रूप में हुई है। उसके सामान की तलाशी लेने पर उसमें से एक ग्रेनेड और दो बंदूक बरामद की गई। अधिकारियों ने बताया कि सैफुल्ला प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान [टीटीपी] का एक सक्रिय सदस्य था। वह आतंकी संगठन मातीउल्ला ग्रुप के लिए भी काम करता था। उसे बैंक डकैती कर आतंकियों के लिए राशि जुटाने की जिम्मेदारी दी गई थी। उसे अफगानिस्तान में प्रशिक्षण दिया गया था। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोहर नफीस ने बताया कि पुलिस ने मुल्तान को एक बड़े आतंकी हमले से बचा लिया है क्योंकि सैफुल्ला क्षेत्र के संवेदनशील जगहों को निशाना बनाने के इरादे से आया था। सैफुल्ला लाहौर में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर हुए हमले को लेकर वांछित था। मार्च 2009 में हुए इस हमले के बाद पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को निलंबित कर दिया गया है। हमले में आठ लोगों की मौत हो गई थी और सात श्रीलंकाई खिलाड़ी व उनके सहायक कोच घायल हो गए थे।