19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
रमजान में खाना खाने पर मिली ऐसी सजा, दहशत में लोग
02-08-2012

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में एक सरकारी अस्पताल की ईसाई नर्सो को चाय में जहर देने का मामला सामने आया है। ईसाई अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिनिधियों ने मामले की निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की है। पुलिस के अनुसार इनमें से कुछ नर्सो की हालत गंभीर है। नर्सो के खून के नमूने लिए गए हैं, जिसकी रिपोर्ट करीब एक हफ्ते में आएगी। इसके बाद ही पूरे मामले से पर्दा उठ पाएगा।इन प्रतिनिधियों ने दावा किया है कि कराची के सिविल अस्पताल में रविवार रात चाय पीने के बाद ईसाई नर्सो की तबीयत बिगड़ने लगी। उन्हें वहीं भर्ती कराया गया। प्रारंभिक इलाज के बाद छुट्टी भी दे दी गई। लेकिन सुबह फिर तबीयत बिगड़ने पर इन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया। चाय अस्पताल में ही बनी थी। एक ईसाई वेबसाइट के मुताबिक इन नर्सो पर आरोप था कि उन्होंने रमजान के पवित्र महीने में सार्वजनिक रूप से खाना खाया। उन्हें सजा के तौर पर जहरीली चीज दी गई। पाकिस्तान के संविधान के तहत रमजान में दिन के वक्त सार्वजनिक रूप से खाने पर प्रतिबंध है। कानून तोड़ने वाले को सजा भी दी जाती है। हालांकि इस तरह की घटना पहली बार सामने आई है। वेबसाइट ने कहा है कि इस घटना के बाद से अल्पसंख्यक खासकर पाकिस्तान में रहने वाले इसाई समुदाय के लोग दहशत में हैं।