19 February 2019



राष्ट्रीय
फिजा की रहस्यमयी मौत
06-08-2012

मोहाली/नई दिल्ली। हरियाणा की पूर्व अतिरिक्त महाधिवक्ता एवं हरियाणा के पूर्व उप मुख्यमंत्री चंद्रमोहन से प्रेम विवाह कर और बाद में तलाक लेकर चर्चा में आई अनुराधा बाली उर्फ फिजा सोमवार को मोहाली स्थित अपने आवास पर मृत मिली। 39 साल की फिजा का शव उसके कमरे में बेड पर पड़ा मिला। शव पूरी तरह फूल गया व काला पड़ गया था। शव से दुर्गध आ रही थी और उस पर कीड़े रेंग रहे थे। शव के पास शराब का एक खाली पव्वा, एक खाली गिलास और एक सिगरेट की डिब्बी पड़ी मिली। पुलिस का प्रारंभिक आकलन है कि फिजा की मौत तीन-चार दिन पहले हो चुकी थी। पुलिस मौत का कारण नशे की अधिक मात्रा मानकर चल रही है।पुलिस सूत्रों के मुताबिक फिजा ने तीन दिन पहले ही आत्महत्या कर ली थी। फिजा घर में अकेले रह रही थी, इसलिए वारदात का पता नहीं चल पाया। जब पड़ोसियों को घर से बदबू आने लगी तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस का कहना है कि प्रॉपर्टी विवाद और पड़ोसियों से परेशान होकर फिजा ने मौत को गले लगा लिया।धर्म परिवर्तन कर आई थी सुर्खियों में फिजा उस वक्त सुर्खियों में आई थी, जब उसने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल के बेटे और पूर्व उप मुख्यमंत्री चंद्र मोहन से शादी कर ली थी। शादी करने के लिए दोनों ने अपना धर्म बदल लिया था। चंद्र मोहन ने अपना नाम चाद मोहम्मद रख लिया था, जबकि अनुराधा बाली ने अपना नाम फिजा रख लिया था। शादी के कुछ वक्त बाद ही दोनों अलग हो गए थे। चाद मोहम्मद उर्फ चंद्र मोहन से अलग होने के बाद फिजा अवसाद में चली गई थी। वह हरियाणा में पूर्व अतिरिक्त महाधिवक्ता रह चुकी है।हाल ही में हुई थी गिरफ्तार फिजा को जून में मोहाली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। फिजा को पड़ोसियों से गाली-गलौज करने और मारपीट के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। जनवरी में संजय अग्रवाल और फिजा के बीच हाथापाई हुई थी। फिजा के घर के पास एक ग्राउंड है। यहा बच्चे खेल रहे थे। फिजा ने उनको खेलने से मना कर दिया। इस बीच संजय अग्रवाल वहा पहुंच गए। फिजा ने संजय को गालिया देनी शुरू कर दी और उनके साथ मारपीट की।