19 February 2019



खेलकूद
मरे ने फेडरर को हराकर जीता स्वर्ण
06-08-2012

लंदन। ब्रिटेन के एंडी मरे ने रोजर फेडरर को 6-2, 6-1, 6-4 से हराकर ओलंपिक टेनिस पुरूष एकल स्पर्घा का स्वर्ण जीत लिया। इसके साथ ही उन्होंने दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी के हाथों विम्बलडन में मिली शिकस्त का बदला भी चुकता कर लिया। चार सप्ताह पहले इसी मैदान पर फेडरर ने मरे को हराकर विम्बलडन जीता था। मरे ने उसका बदला चुकता करते हुए सिर्फ एक घंटे 56 मिनट के भीतर फेडरर को हरा दिया। मरे ने कहा कि यह मेरे जीवन की सबसे बड़ी जीत में से है। अर्जेंटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो ने दुनिया के नंबर दो खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को 7-5, 6-4 से हराकर कांस्य पदक जीत लिया। डेल पोत्रो को ओपन युग के सबसे लंबे एकल सेमीफाइनल मैच में फेडरर ने हराया था। उधर, टेनिस के मिश्रित युगल फाइनल में बेलारूस के मैक्स मिर्नी और विक्टोरिया अजारेंका की शीर्ष वरीयता प्राप्त जोड़ी ने ब्रिटेन के एंडी मरे और रॉबसन लौरा की जोड़ी को तीन सेटों के कड़े संघर्ष में 2-6, 6-3, 10-8 से हराकर स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। इसके साथ ही मरे का ओलंपिक में दोहरे स्वर्ण पदक का सपना भी टूट गया।