24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
सीनाई पर मुर्सी ने पूर्ण नियंत्रण के दिए आदेश
07-08-2012

काहिरा/यरुशलम। आतंकी हमले में 16 सैनिकों की मौत के बाद मिस्र के राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी ने सेना को सीनाई पर फिर से पूर्ण नियंत्रण के आदेश दिए हैं। सेना और खुफिया विभाग के शीर्ष अधिकारियों के साथ आपात बैठक के बाद मुर्सी ने कहा कि सीनाई आतंकियों और और हाल ही में आम माफी के तहत रिहा किए गए अन्य आपराधिक तत्वों का गढ़ बन गया है। तीन दिन के राजकीय शोक की भी घोषणा की गई है।गौरतलब है कि मिस्र और इजरायल के बीच 1997 में हुई शांति संधि के मुताबिक सीनाई में एक सीमा तक ही मिस्र अपने सैनिकों की तैनाती कर सकता है। इससे पहले रविवार को मिस्र और पश्चिमी तट के बीच स्थित एक चेक पोस्ट पर हमला किया गया। मिस्र की सरकारी संवाद समिति मीना के अनुसार हमलावर हमास के नियंत्रण वाले गाजा पट्टी से आए थे। बद्दू के लिबास में आए पांच बंदूकधारी ने चेक पोस्ट पर अंधाधुंध गोलीबारी की। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हमले वक्त चेक पोस्ट पर तैनात जवान अपना रोजा खोल रहे थे। ऐसे में उन्हें जवाबी कार्रवाई का कोई मौका नहीं मिला। इसके बाद इजरायली सीमा में प्रवेश करते वक्त पांचों हमलावर मारे गए। इजरायली सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि सीमा में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे हमलावरों को उनके देश के टैंकों और हेलिकॉप्टरों ने पहचान कर गोली मार दी। सीमा पर दो बख्तरबंद गाड़ियां भी जब्त की गई, जिनमें से एक में विस्फोट हो गया। गौरतलब है कि मुर्सी के राष्ट्रपति चुने जाने के बाद मिस्र में यह पहला आतंकी हमला है। दो सप्ताह पहले उन्होंने सैकड़ों कट्टरपंथियों को आम माफी के तहत रिहा कर दिया था। लेकिन, इस हमले के बाद मुर्सी के फैसले पर सवाल उठने लगे हैं।