19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
सीरिया से किसी शीर्ष स्तर के व्यक्ति का पहला पलायन
07-08-2012

दमिश्क। सीरिया के प्रधानमंत्री रियाद हिजाब परिवार सहित जॉर्डन भाग गए हैं। राष्ट्रपति बशर अल असद ने जून में ही उन्हें प्रधानमंत्री बनाया था। सीरिया के सरकारी टीवी ने कहा है कि हिजाब ने इस्तीफा दे दिया है। खुद हिजाब ने कहा कि वे बागियों के साथ मिल गए हैं। जॉर्डन ने उनके अपने यहां होने की पुष्टि की है। सीरिया से किसी शीर्ष स्तर के व्यक्ति का यह पहला पलायन है। हिजाब ने कहा, ‘मैं आज हत्याओं और आतंकी शासन से खुद को अलग कर रहा हूं। मैं ऐलान करता हूं कि मैं आजादी और क्रांति के साथियों के साथ शामिल हो रहा हूं।सीरियाई टीवी के अनुसार उपप्रधानमंत्री उमर घलवांजी को कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनाया गया है। इससे पहले जुलाई में सीरिया के वरिष्ठ राजनयिक नवाफ बागियों से जा मिले थे। वे इराक में राजदूत थे। हिजाब जून के संसदीय चुनाव के बाद प्रधानमंत्री बने थे और उन्हें अल असद के लिए नई सरकार बनाने का जिम्मा सौंपा गया था। असद विरोधी सीरियाई नेशनल काउंसिल के प्रमुख अब्दुल बासेत सिएदा ने हिजाब के बदले रुख का स्वागत किया है। इस बीच, सोमवार को दमिश्क में सरकारी टीवी चैनल की इमारत में बम विस्फोट हुआ। इसमें कई लोगों के घायल होने की सूचना है। सीरिया की सबसे घनी आबादी वाले और औद्योगिक शहर अलेप्पो में सोमवार को तेज झड़पें हुईं। देशभर में 44 लोग मारे गए।सैनिक नहीं हैं बंधक नागरिक : ईरान तेहरान। सीरियाई विद्रोहियों के दावे को खारिज करते हुए तेहरान ने कहा है कि सीरिया में बंधक बनाए गए 48 ईरानी नागरिक सैनिक नहीं हैं। ईरान के अरबी भाषा के नेटवर्क अल अलम ने अरब मामलों के उप विदेश मंत्री आमिर अब्दुल्लाहियां के हवाले से कहा है कि सभी बंधक तीर्थयात्री हैं और वे शियाओं के तीर्थस्थल सैयीदा जीनब की यात्रा पर गए थे। गौरतलब है कि सीरियाई विद्रोहियों ने दमिश्क में बंदी बनाए गए इन ईरानी नागरिकों के अपहरण का वीडियो रविवार को इंटरनेट पर डालते हुए कहा था कि ये ईरान के विशिष्ट क्रांतिकारी सैनिक हैं। ईरान ने कतर और तुर्की से बंधकों को मुक्त करवाने में मदद मांगी है। कतर और तुर्की के सीरियाई विपक्ष के साथ करीबी रिश्ते हैं।