18 February 2019



खेलकूद
टेनिस खिलाडियों की रैंकिंग में नहीं पड़ा कोई असर
07-08-2012

नई दिल्ली। लंदन ओलंपिक में दूसरे दौर में बाहर हो जाने के बावजूद भारतीय टेनिस खिलाडियों की रैंकिंग में कोई असर नहीं पड़ा तथा लिएंडर पेस अब भी युगल में दुनिया के चोटी के पांच खिलाडियों में बने हुए हैं।महिला वर्ग में सानिया मिर्जा एकल में दो पायदान नीचे खिसकी हैं, लेकिन युगल में वे पहले की तरफ 18वें स्थान पर बरकरार हैं। पेस और विष्णु वर्घन की जोड़ी पुरूष युगल में दूसरे दौर में बाहर हो गई थी। पेस के अब एटीपी रैंकिंग 6335 रेटिंग अंक हैं, लेकिन वे पहले की तरह पांचवें स्थान पर बरकरार हैं। महेश भूपति और रोहन बोपन्ना की जोड़ी भी दूसरे दौर से आगे नहीं बढ़ पाई थी, लेकिन पहले दौर में जीत दर्ज करने से उनकी रैंकिंग में कोई गिरावट नहीं आई। बोपन्ना 13वें स्थान पर बने हुए हैं, जबकि भूपति एक पायदान ऊपर 15वें स्थान पर पहुंच गए हैं। इस बीच वाइल्ड कार्ड से आखिरी क्षणों में ओलंपिक में जगह बनाने वाले विष्णु पहले दौर में हार के बावजूद चोटी के 300 खिलाडियों में पहुंच गए हैं। विष्णु ने 12 स्थान की छलांग लगाई और अब वे 292वें स्थान पर काबिज हैं। सोमदेव देववर्मन को भारी खामियाजा भुगतना पड़ा तथा वे 45 पायदान नीचे 464वें स्थान पर खिसक गए हैं। सानिया एकल में नीचे खिसकीं डब्ल्यूटीए रैंकिंग में सानिया युगल में 3735 रेटिंग अंक के साथ 18वें स्थान पर बनी हुईं हैं, लेकिन एकल में पहले दौर में बाहर होने के कारण वे दो पायदान नीचे 256वें स्थान पर खिसक गई हैं। युगल में सानिया की जोड़ीदार रश्मि चक्रवर्ती को एक स्थान का नुकसान हुआ है और अब वे 506वें स्थान पर हैं।