16 February 2019



राष्ट्रीय
जम्मू एवं कश्मीर सरकार की कड़ी आलोचना
08-08-2012

नई दिल्ली। एक पाकिस्तानी नागरिक को सजा पूरी हो जाने के बाद भी लंबे समय तक जेल में रखने के लिए जम्मू एवं कश्मीर सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को कहा कि आजादी ईश्वर का अमूल्य उपहार है, जिससे सरकार इंकार नहीं कर सकती।न्यायमूर्ति आर.एम. लोढ़ा और न्यायमूर्ति अनिल दवे की पीठ ने कहा कि आजादी, मनुष्य को ईश्वर का अमूल्य उपहार है.. और सरकार अपने नागरिकों [की उस आजादी] की संरक्षक है। न्यायालय ने राज्य की अतिरिक्त गृह सचिव दिलशाद को भी नोटिस जारी किया और पूछा कि हलफनामे में झूठा बयान देने के लिए उनके खिलाफ अवमानना का मामला क्यों न चलाया जाए। दिलशाद ने पाकिस्तानी को हिरासत में रखे जाने पर एक हलफनामा दाखिल किया था। न्यायालय ने दिलशाद को अगली सुनवाई के दौरान भी उपस्थित रहने को कहा है।