18 February 2019



खेलकूद
मैरी कॉम ने जीता कांस्य पदक
09-08-2012

लंदन। पांच बार की विश्व चैंपियन और लंदन ओलंपिक में भारत की एकमात्र महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम अब कांस्य पदक के साथ ही भारत लौटेंगी। बुधवार को खेले गएसेमीफाइनल मुकाबले में मैरी को ब्रिटेन की निकोला एडम्स ने 11-6 से मात दी। इससे पहले मैरी ने सेमीफाइनल में पहुंचकर कांस्य पदक पक्का कर लिया था। भारत के खाते में कुल चार पदक हो गए हैं, जिसमें एक रजत और तीन कांस्य शामिल हैं। क्वार्टर फाइनल में ट्यूनिशिया की मुक्केबाज मारुआ राहाली के खिलाफ जोरदार जीत दर्ज करने वाली मैरी की निकोला के सामने एक नहीं चली। मजबूत कद काठी की निकोला ने पहले दौरमें ही निर्णायक बढ़त ले ली थी। पहले राउंड में भारतीय मुक्केबाज 3-1 से पिछड़ गई थी। दूसरे राउंड में भी निकोला पूरी तरह हावी रहीं और स्कोर 5-2 से उनके पक्ष में रहा। तीसरे राउंड की समाप्ति पर मैरी 8-4 से पीछे थीं। आखिरी राउंड में भी ब्रिटिश मुक्केबाज 3-2 से आगे रहीं और 11-6 से फाइनल में जगह बनाई। एक अन्य सेमीफाइनल में चीन की रेन चानचान ने अमेरिका की मार्लिन स्प्राजा को 10-8 से हराया।