17 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
कुख्यात आतंकियों की कैद से भागा भारतीय
11-08-2012

मनीला। फिलीपींस में अलकायदा के सहयोगी आतंकी गुट अबू सय्याफ की कैद में 14महीने तक रहने वाला केरल का कोलरावीथिल बिजू आखिरकार निकल भागा। 36वर्षीय बिजूकुवैत की एक गारमेंट कंपनी में ऑपरेशनल मैनेजर के पद पर कार्य करता था। बिजू कीरिहाई की खबर मिलते ही केरल में उसके पिता नारायणन खुशी से झूम उठे।आतंकियों ने जून 2011 में फिलींपींस के सूलू प्रात से उसका अपहरण कर लिया था।बिजू की पत्नी फिलीपींस की है। वह अपने ससुराल वालों से मिलने के लिए कुवैत सेफिलीपींस आया था। सूलू प्रात के पुलिस प्रमुख सीनियर सुपरिंटेंडेंट एंटोनियो फ्रेराने बताया किआतंकी गहरी नींद में सो रहे थे और इसी दौरान उसे भागने का मौका मिल गया। इसके बाद वह पराग गाव में आ गया और वहीं से पुलिस को उसके बारे में पता लगा। 14 महीने तक बंधक रहने की वजह से बिजू का 20 किलो वजन कम हो गया है। एंटोनियो ने बताया कि वह पुलिस की देखरेख में है और पूरी तरह सुरक्षित है। मार्च 2012 में पुलिस ने एक सूत्र के आधार पर कहा था कि बिजू को आतंकियों ने फासी दे दी है। उसकी रिहाईके बदले सात हजार डॉलर की फिरौती मागी गई थी, लेकिन उसके परिवार ने आतंकियों की मागपूरी करने से इन्कार कर दिया था। अबू सय्याफ नाम का यह गुट अपहरण,फिरौती,बम धमाकेऔर सिर कलम करने के लिए दुनिया भर में कुख्यात है। अबू सय्याफ ने कई ऑस्ट्रेलियन, मलेशियाई और जापान के नागरिकों को भी बंधक बना रखा है।