16 February 2019



खेलकूद
लुईस को करारा जवाब
11-08-2012

लंदन । दुनिया के सबसे तेज धावक जमैका के उसैन बोल्ट ने लंदन ओलंपिक के 13वें दिन 200 मी. दौड़ में स्वर्ण पदक जीतने के बाद कहा कि उनके मन में अमरीका के महान एथलीट कार्ल लुईस के लिए अब कोई सम्मान नहीं बचा है। दरअसल लुईस ने बोल्ट के बीजिंग में रिकार्ड तिहरे स्वर्ण पदक जीतने के बाद उनकी जीत को लेकर उन पर संदेह व्यक्त किया था। वैसे अमरीकी एथलीट लगातार जमैका के एथलीटों पर संदेह व्यक्त करते रहे हैं और 1984 के लॉस एंजिलिस ओलंपिक में चार स्वर्ण पदक जीतने वाले लुईस भी उनमें शामिल हैं। गोल्डन डबल के बाद दिया जवाब बोल्ट ने लंदन ओलंपिक में 100 और 200 मी. दौड़ में गोल्डन डबल पूरा करने के बाद लुईस को करारा जवाब देते हुए कहा, मैं अब कुछ विवादास्पद कहने जा रहा हूं। कार्ल लुईस मेरे मन में आपके लिए कोई सम्मान नहीं बचा है। मुझे लगता है कि लुईस ने धावकों के लिए कई विवादास्पद बयान दिए हैं जिससे उनके सम्मान को ठेस पहुंची है। उन्हें किसी अन्य एथलीट के बारे में ऎसा कहने का कोई हक नहीं है।ये कहा था लुईस ने...मुझे लगता है कि इसमें कुछ संदेह जरूर है। जमैका जैसे देशों में एथलीटों का लगातार परीक्षण नहीं होता है। ऎसे में कई महीनों तक उनके बारे में पता नहीं चल पाता है। मुझे लगता है कि ट्रैक पर आने वाले सभी खिलाडियों का परीक्षण होना चाहिए।विश्व के पहले एथलीट बोल्ट लगातार ओलंपिक में 100 और 200 मी. दौड़ में अपने खिताब का बचाव करने वाले दुनिया के पहले एथलीट बन गए हैं। बोल्ट ने 19.32 सेकण्ड का समय लेते हुए इस सत्र का अपना सर्वश्रेष्ठ समय निकाला और 200 मी. दौड़ का स्वर्ण अपने नाम किया जबकि जमैका के ही योहान ब्लेक को रजत और वारेन वीयर को कांस्य पदक मिला।