21 February 2019



प्रमुख समाचार
सरकारी कर्मचारी सरकार से नाराज
16-08-2012

सरकार द्वारा कर्मचारियों के वेतन-भत्तों मे बढ़ोंत्तरी के लिए गठित किए गए अग्रवाल वेतन आयोग की सिफारिशों को सही रूप में लागू न किए जाने से कर्मचारी वर्ग में अंसंतोष पैदा हो गया है। कर्मचारी नेताओं का कहना है कि सिर्फ कुछ भत्तों में मामूली बढ़ोत्तरी करके कर्मचारियों को लालीपाप देने की कोशिश की गई है। केंद्र औऱ राज्य के कर्मचारियों के वेतन के बीच अभी भी काफी असमानता है। प्रदेश के ढाई लाख कर्मचारियों के लिए तो सरकार ने कुछ किया ही नहीं ।

सामान्य प्रशासन मंत्री केएल अग्रवाल ने 14 अगस्त को प्रेस कांफ्रेंस में घोषणा की थी कि अग्रवाल वेतन आयोग की अनुशंसाओं को लागू किया जा रहा है। इसे सुनकर कर्मचारियों को ऐसा लगा जैसे सरकार ने अपना सारा खजाना कर्मचारियों की सुख सुविधाओं के लिए खोल दिया है लेकिन जैसे ही घोषणाओं की हकीकत पता चली तो कर्मचारियों की खुशी काफूर हो गई। कर्मचारी नेताओं का कहना है कि कर्मचारी ठगे गए हैं सिर्फ आवास तथा यात्रा जैसे कुछ भत्तों में बढ़ोत्तरी की गई है । ढाई लाख कर्मचारियों को समयमान वेतनमान, जैसी मांगे अभी तक अधूरी ही हैं।