19 February 2019



राष्ट्रीय
सीमा पर पलायन जैसे हालात
17-08-2012

आरएसपुरा, संवाद सहयोगी। सीमा पर बार-बार गोलीबारी कर तनाव बढ़ा रहे पाकिस्तान ने बृहस्पतिवार को आरएसपुरा की अब्दुल्लियां पोस्ट को निशाना बनाया। पहले ताबड़तोड़ फायरिंग की और फिर शेल दागे। इसमें बीएसएफ काएक जवान शहीद हो गया। गोलीबारी से सीमात इलाकों में भय का माहौल व्याप्त हो गया। देर रात सीमा से सटे कुछ गावों में पलायन जैसे हालात बन गए और लोग सुरक्षित स्थानों की ओर आने लगे, लेकिन प्रशासन ने लोगों को समझा-बुझाकर वापस भेज दिया।

सूत्रों के अनुसार सीमा पार घात लगाए बैठे पाकिस्तानी स्नाइपर ने शाम साढ़े सात बजे बीएसएफ की 135 बटालियन के जवान चंदन राय निवासी असम को गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। बाद में जवान की मौत हो गई। इसके साथ ही पाकिस्तान ने अपनी नंदपुर पोस्ट से ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी। पाकिस्तान ने भारतीय इलाकों में शेल भी दागे। बीएसएफ ने भी गोलीबारी का जवाब दिया। सीमा पर फायरिंग से क्षेत्र में भय का माहौल पैदा हो गया। आरएसपुरा के सीमात गाव संगराल, मंगराल, घराना, अब्दुल्लिया आदि से लोग पलायन कर सुरक्षित स्थानों की ओर कूच करने को तैयार हो गए थे, लेकिन गोलाबारी रुकने और अधिकारियों के समझाने के बाद लोग रुक गए। इससे पूर्व स्वतंत्रता दिवस पर भी पाक ने हीरानगर के पानसर, रठुआ और पहाड़पुर पोस्ट पर गोलाबारी की थी। पुंछ में भी पाक ने सुबह स्वतंत्रता दिवस पर मिठाई दी और रात को कृष्णा घाटी सेक्टर में भारी गोलीबारी की।

सीजफायर का उल्लंघन

15 अगस्त 2012: पाकिस्तान ने हीरानगर सेक्टर की तीन पोस्टों पर गोलीबारी की।

15 अगस्त: कृष्णा घाटी सेक्टर की तीन चौकियों पर जमकर गोलीबारी।

11 अगस्त: रामगढ़ की नारायणपुर स्टाप टू पोस्ट पर मोर्टार शेल गन के गोले दागे।

9 अगस्त: उत्तरी कश्मीर के गुरेज सेक्टर में घुसपैठ का बड़ा प्रयास नाकाम, जवान शहीद।

9 अगस्त- पुंछ जिले में कृष्णा घाटी सेक्टर में भारत की तीन पोस्टों पर दो घटे गोलीबारी।

6 अगस्त: पुंछ जिले के गुंत्रिया सेक्टर में घुसपैठ करवाने के लिए गोलीबारी।

6 अगस्त: हीरानगर की पहाड़पुर व पानसर पोस्ट पर गोलीबारी में दो जवान घायल।

5 अगस्त: जम्मू में अरनिया सेक्टर की कोट कुब्बा पोस्ट पर गोलीबारी की।

28 जुलाई: साबा सेक्टर के चचवाल गाव में सीमा पर पाक द्वारा सुरंग बनाने का खुलासा।