19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
पुतिन विरोधी प्रदर्शन करने वाले बैंड को सजा पर रूस की शेम-शेम
18-08-2012

मॉस्को। रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन के खिलाफ \'पूसी राइट\' प्रदर्शन करने वाले बैंड की तीन महिलाओं को दो साल की सजा सुनाई गई है। इस सजा के खिलाफ पूरे यूरोप और अमेरिका में प्रदर्शन किए गए। लंदन में लोग इतने नाराज हुए कि उन्होंने रूस के दूतावास पर हमला बोल दिया। नादेज्दा तोलोकोन्निकोवा (22), मरीना एल्योखिना (24) व येकतरीना सेमुत्सविच (30) ने नकाब पहनकर पुतिन के विरोध में चर्च के भीतर गाना गया था। मास्को स्थिति अमेरिकी दूतावास ने सजा की निंदा की है। विदेश विभाग की प्रवक्ता विक्टोरिया नूलैंड ने रूस से सजा पर दोबारा विचार करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इस सजा से रूस में भावनाओं को व्यक्त करने की स्वतंत्रता पर चोट पहुंचेगी। मॉस्को में अदालत के बाहर बैंड के समर्थकों ने \'शेम-शेम\' के नारे लगाए। पूरी दुनिया में इन महिलाओं को जबरदस्त समर्थन मिला है। पंक बैंड को मडोना और पॉल मैक्कार्टनी और स्टिंग ने भी समर्थन दिया। दूसरी ओर मरीना सिरोवा ने कहा कि इन लड़कियों ने ईशनिंदा की, पवित्र वस्तुओं को दूषित किया और चर्च के खिलाफ गई। उनका व्यवहार धर्म के खिलाफ उपद्रवियों जैसा है।