19 February 2019



राष्ट्रीय
गीतिका केस : दिल्ली पुलिस ने अंकिता का पता लगाया
23-08-2012

 गीतिका सुसाइड केस में पुलिस को अंकिता के बारे में अहम सुराग हाथ लगा है। अंकिता दुबई में है। गीतिका के साथ अंकिता भी एमडीएलआर कंपनी में काम करती थी। पुलिस का मानना है कि गीतिका की मौत की गुत्थी सुलझाने में अंकिता से अहम जानकारी हाथ लग सकती है। वहीं मुख्यआरोपी हरियाणा के पूर्व गृह राज्य मंत्री गोपाल काडा पर दिन ब दिन शिकंजा कसता जा रहा है। आइटी एक्ट के तहत मामला दर्ज होने के बाद अब दिल्ली पुलिस ने सबूतों से छेड़छाड़ का मामला दर्ज करने का निर्णय लिया है। वहीं, बुधवार को दिल्ली पुलिस की टीम महिला पुलिसकर्मियों के साथ काडा के गुड़गाव सिविल लाइंस स्थित घर पहुंची। टीम ने काडा की पत्‍‌नी सरस से लगभग एक घटे तक पूछताछ की। सूत्रों के अनुसार पूछताछ में सरस से गीतिका व अंकिता के संबंध के बारे में पूछताछ की गई। अधिकारियों की माने तो उनके पास गीतिका आत्महत्या मामले में काडा के खिलाफ पुख्ता सबूत मिल चुके हैं। जल्द ही इस मामले में कुछ अन्य लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है। अधिकारियों के अनुसार दुबई में गीतिका को ई-मेल भेजने व अन्य फर्जी दस्तावेज तैयार करने के मामले में एमडीएलआर कर्मी खुशबू व शिवरूप से पूछताछ जारी है। दोनों की इस मामले में महत्वपूर्ण भूमिका सामने आ रही है। बुधवार को दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) धर्मेद्र कुमार ने बताया कि काडा की निशानदेही पर उसके घर, दफ्तर और फार्म हाउस से महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं। कंप्यूटर की हार्ड डिस्क, लैपटॉप व कई फाइलों की जाच में 25 पुलिसकर्मियों की टीम काम कर रही है। गीतिका के परिजनों ने पुलिस को बताया था कि गीतिका के दुबई से दिल्ली लौटने पर काडा की कंपनी में कार्यरत खुशबू ने उसे कम से कम सौ फोन किए थे। खुशबू एमडीएलआर ग्रुप के पर्सनल विभाग में कार्यरत है। वह गीतिका को कंपनी दोबारा ज्वाइन करने के लिए फोन कर रही थी। वहीं शिवरूप ने फर्जी ई-मेल आइडी तैयार कर दुबई में गीतिका को ई-मेल भेजा था। पूछताछ में शिवरूप ने बताया कि ऐसा उसने अरुणा चड्ढ़ा के आदेश पर किया था। विशेष आयुक्त धर्मेद्र कुमार के अनुसार टुकड़ों में बरामद सबूतों को पुलिस टीम जोड़ने का काम कर रही है। हमें सबूतों से छेड़छाड़ के संकेत मिल रहे हैं। इसके आधार पर काडा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उसपर गीतिका को आत्महत्या के लिए उकसाने, जान से मारने की धमकी देने, आइटी एक्ट के तहत व षडयंत्र रचने का मामला पहले से दर्ज है। अंकिता की भूमिका की जाच करनी है। गीतिका ने अपने सुसाइड नोट में अंकिता के नाम का जिक्र करते हुए काडा से उसका एक बच्चा होने की बात लिखी थी। अधिकारियों के अनुसार अंकिता व नुपुर मेहता के खिलाफ गीतिका ने गोवा में केस भी दर्ज कराया था। इस मामले को खत्म करवाने के लिए ही काडा गीतिका को गुड़गाव बुला रहा था। काडा का मकसद एफआइआर खारिज करने का था।