19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
असांजे को अमेरिका प्रत्यर्पित नहीं करेगा स्वीडन
23-08-2012

 स्वीडिश वेबसाइट विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को अगर मौत की सजा दिए जाने की आशंका होगी तो स्वीडन उन्हें अमेरिका को प्रत्यर्पित नहीं करेगा। यह बात ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री बॉब कार ने बुधवार को कही। ब्रिटिश अधिकारियों ने असांजे को स्वीडन प्रत्यर्पित किए जाने का मुकदमा जीत लिया था ताकि वह वहां पर यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर सकें। मगर असांजे द्वारा लंदन स्थित इक्वाडोर के दूतावास में शरण लिए जाने के कारण वह अब तक उन्हें स्वीडन नहीं भेज सके हैं। 41 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई नागरिक असांजे के समर्थकों का मानना है कि यदि उन्हें स्वीडन भेजा जाता है तो वहा से उन्हें अमेरिका प्रत्यर्पित किया जा सकता है। विकिलीक्स द्वारा गोपनीय दस्तावेजों को जारी करने के कारण अमेरिका में उन्हें जासूसी के आरोपों का सामना करना पड़ सकता है। बॉब कार ने कहा कि उनका देश अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर के मामले में शामिल नहीं हो सकता है। स्वीडन ने इस बात का संकेत दिया है कि असांजे को अमेरिका नहीं भेजा जाएगा। कार ने \'ऑस्ट्रेलियन फाइनेंशियल रिव्यू\' से कहा कि यह ऑस्ट्रेलियाई कूटनीति का मामला नहीं है। यह दूतावास संबंधी समर्थन का मामला है। हमने स्वीडन से इस बात का आश्वासन मांगा है कि असांजे को प्रत्यर्पित नहीं किया जाएगा। उनके मुताबिक स्वीडन ने कहा है कि उसकी ओर से मौत की सजा की आशंका या सैन्य व खुफिया मामलों को लेकर किसी को प्रत्यर्पित नहीं किया जाता है। उधर विकिलीक्स ने स्वीडन से यह गारंटी देने की मांग की है कि वह असांजे को अमेरिका प्रत्यर्पित नहीं करेगा।