22 February 2019



राष्ट्रीय
संबंधों की नई इबारत लिखेंगे मनमोहन
28-08-2012

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह गुट निरपेक्ष देशों के सम्मेलन में भाग लेने के लिए मंगलवार को ईरान की राजधानी तेहरान पहुंच रहे हैं। इस सम्मेलन के तहत भारत व ईरान संबंधों की नई इबारत लिखेंगे। आज वह ईरान के साथ द्विपक्षीय बातचीत करेंगे। इस साल फरवरी में नई दिल्ली में इजरायली राजनयिक की कार में हुए बम विस्फोट में ईरान के हाथ की आशंका के बीच भारत-ईरान संबंधों में दूरियां आ गई थी। नए अंतरराष्ट्रीय समीकरणों के तहत दोनों महत्वपूर्ण चाबहार परियोजना को लेकर भी गंभीर हैं। इधर, प्रधानमंत्री की अनुपस्थिति में सुशील कुमार शिंदे, पी चिदंबरम व एके एंटनी उनका कामकाज देखेंगे। बृहस्पतिवार को होने वाले गुटनिरपेक्ष आदोलन की शिखर बैठक में हिस्सा लेने से पहले मनमोहन सिंह अमेरिका की आपत्तियों को खारिज करते हुए ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनी समेत कई शीर्ष नेताओं के साथ महत्वपूर्ण द्विपक्षीय बातचीत करेंगे। सिंह 120 सदस्यीय गुटनिरपेक्ष आदोलन के 16वें शिखर सम्मेलन से इतर पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और बाग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना समेत अन्य देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे। ईरान और भारत के बीच बैठक से ठीक पहले नई दिल्ली ने यह पूरी तरह से स्पष्ट कर दिया है कि शाति और सुरक्षा प्रमुख चिंता होगी जिसे तेहरान के साथ उठाया जाएगा। विदेश सचिव रंजन मथाई ने नई दिल्ली में कहा कि शाति और सुरक्षा वास्तव में पश्चिम एशिया क्षेत्र, खाड़ी क्षेत्र, खासकर तेल के आयात और हमारे निर्यात दोनों ही लिहाज से भारत की सुरक्षा और अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण है। इसलिये यह हमारी चिंता है तथा हमें किसी और की चिंता को प्राथमिकता के आधार पर नहीं लेना होगा।