19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
एक बच्ची ने की थी इस खूंखार आतंकवादी की पहचान
01-09-2012

ऑपरेशन नेप्ट्यून स्पीयर\' में हिस्सा लेने वाले नेवी सील कमांडो की किताब \'नो इज़ी डे-द आटोबायोग्राफी ऑफ ए नेवी सील\' में एक और खुलासा हुआ है। इस किताब के जरिए पूर्व सील कमांडो ने बताया है कि ओसामा बिन लादेन की पहचान एक बच्ची ने की थी, जो उस वक्त लादेन के कमरे में ही मौजूद थी। बेसोनेटन ने लिखा है, \"एक कमांडो ने लादेन के कमरे की बालकनी में खड़ी छोटी बच्ची से पूछा कि यह व्यक्ति कौन है। लड़की ने कहा- ओसामा बिन लादेन। कमांडो (विल) ने मुस्कुराकर लड़की से पूछा- क्या तुम्हे पूरा यकीन है? लड़की ने कहा -हां।\" बेसोनेट के अनुसार लड़की से पुष्टि करने के बाद ही कमांडो ने अमेरिका में ऑपरेशन पर नजर रख रहे उच्च अधिकारियों को \'गैरोनिमो\' मैसेज भेजा। जिसका मतलब था कि लादेन की मौत हो चुकी है। लादेन हत्या मिशन पर आधारित इस विवादित किताब को 36 वर्षीय मैट बिसोनेट ने मार्क ओवेन के छदम नाम से लिखा है। गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों से इस किताब के जरिए ओसामा की मौत से जुड़े कई अहम् खुलासे हुए हैं। मैट बिसोनेट की मानें तो कमांडो ऑपरेशन के पूरा होने से पहले ही लादेन की मौत हो चुकी थी। मैट की इस किताब को लेकर अमेरिका की काफी किरकिरी हो रही है। किताब में मैट ने लिखा है कि अमेरिका द्वारा लादेन की मौत की खबरों को तोड़-मरोड़ कर दुनिया के सामने पेश किया गया, जबकि सच्चाई कुछ अलग ही थी।