19 February 2019



राष्ट्रीय
विपक्ष पर बरसे पीएम, सुषमा ने भी दिखाए तीखे तेवर
07-09-2012
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को मानसून सत्र के हंगामे की भेंट चढ़ने पर अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि विपक्ष का हंगामा संसदीय लोकतंत्र के खिलाफ है। इस बीच, मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने कहा है कि वह इस मुद्दे पर आर-पार की लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि वे कैग का सम्मान करते हैं और उन्हें मानसून सत्र के बेकार चले जाने का अफसोस है। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने कैग की रिपोर्ट पर चर्चा करने का मौका गंवा दिया। उन्होंने कहा कि संसद और पीएसी में इसपर चर्चा होनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि विपक्ष को अपनी जिम्मेदारी का अहसास होना चाहिए था। इस बीच, भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज ने कहा कि केंद्र सरकार विपक्ष पर संसद न चलने देने का आरोप लगा रही है, जो कि सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने संसद चलने देने के लिए शर्ते रखी थी, परंतु सरकार ने उन शर्तो को नहीं माना। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को कोल ब्लॉक आवंटन कर रद्द कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा इस मुद्दे गांवों तक ले जाएगी। उन्होंने कहा कि जन दवाब के आगे केंद्र सरकार को कोल ब्लॉक आवंटन रद करने ही पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि देश के जिम्मेदार लोगों ने ही राष्ट्र की संपत्ति को लूटा है।