19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
पैगम्‍बर साहब का 'अपमान': दूतावास पर हमला, अमेरिकी अफसर की मौत
12-09-2012
.लीबिया के बेनगाजी शहर में अमेरिकी दूतावास पर प्रदर्शनकारियों द्वारा किए हमले में एक अमेरिकी अधिकारी की मौत हो गई है, जबकि एक जख्‍मी हुआ है।  विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने इस हमले की कड़ी निंदा की है। यह हमला अमेरिका में पैगम्बर साहब पर बनाई गई एक ऑनलाइन फिल्म को लेकर किया गया। दूतावास में घुसे कुछ बंदूकधारियों ने एक अमेरिकी राजनयिक को गोली से भून दिया। नाराज प्रदर्शनकारियों ने ग्रेनेड से बिल्डिंग पर हमला कर उसे आग के हवाले कर दिया। गौरतलब है, अमेरिका स्थित कॉप्टिक ग्रुप ने इस्लाम विरोधी इस ऑनलाइन फिल्म का निर्माण किया है, जिसमें पैगम्बर मोहम्मद साहब के बारे अपमानजनक बातें कहीं गई हैं। इस फिल्म के निर्माताओं वो पादरी भी शामिल हैं, जिन्होंने कुरान की प्रतियां जलाईं थीं। इसे लेकर पड़ोसी देश मिस्र की राजधानी काहिरा स्थित अमेरिकी दूतावास के बाहर भी प्रदर्शन चल रहे थे। प्रदर्शनकारियों ने दूतावास में लगे अमेरिकी झंडे को फाड़ दिया और उसकी जगह इस्लामी झंडे  लगा दिए। मिस्र से जुड़े कुछ संगठनों ने अमेरिकी वेबसाइट के साथ यूट्यूब पर अपलोड \'इनोसेंस ऑफ मुस्लिम्स\' फिल्म के कुछ सीन पर आपत्ति जताई है। फिल्म के एक सीन में इस्लाम को सबसे बुरा धर्म करार देते हुए इसे कैंसर तक कह डाला है। फिल्म को इजरायली-अमेरिकी रियल स्टेट निर्माता ने बनाया है। उसने अपनी फिल्म के द्वारा इस्लाम को सबसे खराब धर्म बताया है। फिल्म का प्रोमोशन फ्लोरिडा के पादरी टेरी जोंस ने किया है। जोंस के खिलाफ पूर्व में भी कुरान की प्रति जलाने पर प्रदर्शन हुए थे। अमेरिका ने कहा है कि दुनियाभर में अमेरिका अपने साथी देशों के साथ कई मिशनों पर काम कर रहा है और इस घटना के बाद उन देशों को हमारे लोगों को कड़ी सुरक्षा देनी चाहिए।