22 February 2019



राष्ट्रीय
2जी : जेपीसी के समक्ष आज पेश होंगे सुब्बाराव
18-09-2012
रिजर्व बैंक के गवर्नर डी सुब्बाराव मंगलवार को 2जी मामले की जांच कर रही संयुक्त संसदीय समिति [जेपीसी] के समक्ष पेश होंगे। सुब्बाराव अप्रैल 2007 से सितंबर 2008 के दौरान वित्त सचिव थे। जनवरी 2008 में 2जी के लाइसेंस जारी किए गए थे। इससे पूर्व जेपीसी की 14 सितंबर को होने वाली बैठक में पूर्व कैबिनेट सचिव केएम चंद्रशेखर को पेश होना था लेकिन ऐसा न होने पर जेपीसी को आगे बढ़ा दिया गया था। चंद्रशेखर जून 2007 से जून 2011 तक कैबिनेट सचिव के पद पर थे। गौरतलब है कि मंगलवार को होने वाली जेपीसी की बैठक लगभग एक माह बाद हो रही है। 22 अगस्त को हुई जेपीसी की बैठक में भाजपा सांसदों ने 2जी की सुनवाई के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम को इसके समक्ष पेश होने की पुरजोर वकालत की थी। लेकिन सत्ता पक्ष के सांसदों ने इसका विरोध किया, जिसके बाद भाजपा सांसदों ने इस बैठक को मजाक बताकर इसका बहिष्कार किया था। कांग्रेस सांसदों का कहना था कि यदि वह इस मामले में प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री को जेपीसी के समक्ष बुलाना चाहते हैं तो फिर राजग शासनकाल के बड़े नेताओं को भी इसमें बुलाया जाना चाहिए। भाजपा सांसदों ने इस बैठक का बहिष्कार किए जाने के बाद बताया कि सत्तापक्ष के सांसदों ने उनसे अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया, लिहाजा उनके पास इस बैठक से उठने के अलावा और कोई चारा नहीं था। सूत्रों के मुताबिक जेपीसी की आज होने वाली बैठक में सुब्बाराव के बाद दूरसंचार और वित्त सचिव, विधि सचिव और मौजूदा अटार्नी जनरल को भी बुलाए जाने की संभावना है।