15 February 2019



राष्ट्रीय
भारत बंद में मुलायम, करात गिरफ्तार
20-09-2012
सरकार के फैसलों के खिलाफ भारत बंद का चौतरफा असर देखने को मिला। दिल्ली में बंद के दौरान मुलायम सिंह यादव, एबी बर्धन, प्रकाश करात, सीताराम येचूरी और चंद्रबाबू नायडू ने गिरफ्तारी दी। उत्तर प्रदेश में जनजीवन सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। कानपुर में दिल्ली-लखनऊ शताब्दी एक्सप्रेस को प्रदर्शनकारियों ने रोका गया। वहीं, रीटेल में एफडीआई, डीजल के दामों में बढ़ोतरी और सस्ते सिलेंडर के कोटे का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने लखनऊ में वॉलमार्ट स्टोर समेत दूसरी दुकानों पर ताला जड़ दिया। उत्तर प्रदेश के एक्सप्रेस-वे में बसों को रोकने की भी खबरें आ रही हैं। आगरा में बंद के समर्थन में सपाईयों ने सुल्तानगंज चौराहा जाम किया। छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस को राजामंडी पर रोक लिया गया। बीजेपी के नेता शहनवाज हुसैन और राजनाथ सिंह ने सड़क पर उतरकर, तो रविशंकर प्रसाद ने साइकिल चलाकर सरकार के फैसलों के खिलाफ मोर्चा खोला। झारखंड में भी बंद का व्यापक असर दिखाई दिया। हालांकि, दिल्ली समेत दूसरे महानगरों में बंद का खास असर नहीं दिखाई दिया। कोलकाता, लखनऊ, इलाहाबाद, कानपुर, पटना समेत दूसरे शहरों में प्रदर्शनकारियों के जबरन ट्रेन रोकने और दुकानें बंद करने की खबर मिली। इस बीच कोलकाता में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प की भी हुई। यूपी और बिहार में रेलवे ट्रैक जाम करने की वजह से करीब एक दर्जन ट्रेनों पर असर पड़ा है। वहीं, बिहार में बंद को सफल बनाने के लिए बीजेपी-जेडीयू के कार्यकर्ताओं ने पटना जंक्शन के करीब एक दुकान को जबरन बंद करवा दिया। इन कार्यकर्ताओं ने दुकान के पेपर और मैग्जीन को उठाकर फेंक दिया। बता दें कि आज से तीन दिन पहले ही बीजेपी और जेडीयू खेमे के बीच बैठक हुई थी जिसमें सख्त हिदायत दी गई थी कि जो भी कार्यकर्ता सड़कों पर उतरेंगे वो किसी भी तरह की तोड़फोड़ नहीं करेंगे या किसी के साथ बदसलूकी नहीं करेंगे।वहीं, गुरुवार को तड़के समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने इलाहाबाद में रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। मथुरा और कानपुर में रेलवे ट्रैफिक को जाम किए जाने की खबर है। मथुरा में प्रदर्शनकारियों ने भुवनेश्वर एक्सप्रेस और कानपुर में स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस को रोका गया।