17 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
पाक के मंत्री रहमान मलिक समेत ग्यारह सांसद अयोग्य करार
20-09-2012
पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को ग्यारह सांसदों को दोहरी नागरिकता रखने के आरोप में अयोग्य करार दे दिया। इसमें पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री रहमान मलिक भी शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद अब इन सांसदों को भी मुमकिन है कि अपने पद से इस्तीफा देना पड़ जाए। सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश इन सांसदों की दोहरी नागरिकता रखने के खिलाफ दिया है।प्रमुख न्यायधीश इफ्तिखार चौधरी ने आदेश देते हुए कहा कि इस मामले में किसी सूरत से भी समझौता नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि किसी सांसद को यह अधिकार नहीं है कि वह दोहरी नागरिकता रख सके। सुप्रीम कोर्ट के आज के आदेश के बाद दोहरी नागरिकता रखने वाला कोई भी इंसान पाक में किसी सरकारी पद पर नहीं रह सकेगा।कोर्ट ने सरकार को आदेश दिया है कि वह इन सांसदों को मिलने वाला वेतन रोक दे और उसको राष्ट्रीय राजकोष में जमा करवाए। कोर्ट ने सीनेट को इस बाबत पंद्रह दिन में रिपोर्ट सौंपने का भी आदेश दिया है। इसके अलावा सभी सांसदों को लिखित में यह देना होगा कि उनके पास दोहरी नागरिकता नहीं है।पाक के आंतरिक मंत्री रहमान मलिक के पास ब्रिटेन की भी नागरिकता है। कोर्ट ने आज जिन सांसदों को अयोग्य करार दिया है उनमें फरहानाज इसफानी, मोहम्मद इकलाख, जाहिद इकबाल, अरशद चौहान, अहमद अली शाह, आसिफ भुट्टार, नदीम खादिम, नादिया गबूल, पुरहाद मौहम्मद खान, जमील मलिक शामिल हैं। गौरतलब है कि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी को भी अयोग्य करार दे चुका है, जिसके बाद उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। सुप्रीम कोर्ट के अयोग्य करार दिए जाने के बाद वह पांच वर्षो तक चुनाव नहीं लड़ सकते हैं।