15 February 2019



राष्ट्रीय
सीडब्ल्यूसी बैठक : सरकार ने अपनी पीठ थपथपाई
25-09-2012
एलपीजी सिलेंडर, डीजल और एफडीआइ को विपक्षी दलों और जनता की आंखों की किरकिरी बनी सरकार ने अपनी झेंप मिटाने के लिए आज सीडब्ल्यूसी की बैठक में खुद ही अपनी पीठ थपथपाई। सोनिया गांधी की अगुवाई में कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में आर्थिक सुधारों का समर्थन करते हुए सरकार के सभी फैसलों को सही ठहराया गया। इस दौरान सोनिया गांधी ने भारतीय जनता पार्टी द्वारा सरकार के फैसलों का विरोध करने को विपक्ष की गैर जिम्मेदाराना हरकत करार दिया। माना जा रहा था कि बैठक में केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर भी बातचीत की जाएगी। लेकिन इस मामले को लेकर मीटिंग में कोई बात नहीं की गई। हालांकि, खबर आ रही है कि डीएमके मंत्रिमंडल में बड़ा मंत्रालय हासिल करने की जुगत में है। ए. राजा और दयानिधि मारन के इस्तीफे के बाद खाली हुए द्रमुक के कोटे पर पार्टी अपने ही मंत्रियों को बैठाना चाहती है। वहीं, सोनिया ने कहा कि सरकार को कोई खतरा नहीं है। बैठक में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह व केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम सहित 30 सदस्य शामिल हुए थे। काग्रेस प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी ने बैठक की जानकारी देते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को सुधारना आवश्यक कदम है, लिहाजा यूपीए ने यह कड़े फैसले लिए हैं। सोनिया गांधी ने हाल ही में राज्यों में हुई साप्रयदायिक घटनाओं पर अफसोस जाहिर किया। उन्होंने असम में हुई हिंसा के बाद राहत कार्य में सहयोग देने पर लोगों का धन्यवाद दिया। सरकार द्वार उठाए गए कदमों पर चिदंबरम ने कहा कि दुनिया भर में जो आर्थिक मंदी का दौर है उससे हमारा देश प्रभावित न हो, इसकी हमें चिंता थी। उन्होंने सरकार के कडे़ फैसलों को रुपये की घटती कीमत को काबू करने के लिए किया गया उपाय बताया। वित्तमंत्री के मुताबिक अर्थव्यवस्था की खराब सेहत में सुधार करने के लिए देश में ज्यादा पैसा लाने हैं इसके लिए यह फैसले लेने जरूरी थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार गरीबों के साथ पहले भी थी और आगे भी उनके हितों के लिए काम करती रहेगी। उन्होंने कहा कि हमारे कार्यक्रम योजना जब तक लागू नहीं हो सकते जब तक हमारी अर्थव्यवस्था सही नहीं रहती है। इस बैठक में तेलंगाना पर कोई चर्चा नहीं हुई है। बैठक में राहुल ने पंचायत राज कानून के ठीक से लागू न होने पर नाराजगी जाहिर की। बैठक के दौरान पार्टी की सबसे बड़ी चिंता केंद्रीय योजनाओं को लागू करने और तमाम उपायों के बाद भी जनता तक उनके भले के लिए या राहत देने के लिए उठाए गए कदमों का सही संदेश न पहुंचा पाने की रही। वहीं, भाजपा प्रवक्ता प्रकाश जावडेकर ने कहा है कि हम हर उस आर्थिक सुधार का समर्थन करते है जो जनता के हक में हो। काग्रेस हमेशा से तेलंगाना के लोगों के साथ विश्वासघात करती आई है। उन्होंने तेलंगाना का समर्थन करते हुए कहा कि सत्ता में आने पर भाजपा 100 दिन में तेलंगाना राज्य बनाएगी।