19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
बेटी लेस्बियन और बाप लाचार, लगा दिए दांव पर 342 करोड़ रुपये
29-09-2012
कई बार बेशुमार धन-दौलत होने के बावजूद इसके कुछ भी मायने नहीं होते हैं, जब तक आपका मन अंदर से संतुष्ट न हो। भारत के पौराणिक कथाओं में कई बार ऐसे प्रसंग आते हैं, जिसमें राजा किसी भी एक छोटी सी बात पर या प्रश्न के जवाब को ढूंढने के लिए पूरा खजाना खोल देते थे। ऐसा ही कुछ वाकया हुआ है कि हांगकांग के एक बड़े बिजनेस टायकून के साथ। बेशुमार दौलत के बाद भी वह आदमी सबसे ज्यादा दुखी है।