22 February 2019



राष्ट्रीय
केजरीवाल का खुल गया 'राज'
18-10-2012
रॉबर्ट वाड्रा-डीएलएफ प्रकरण और सलमान खुर्शीद के एनजीओ पर हुए खुलासे के बाद अरविंद केजरीवाल की संस्था इंडिया अंगेस्ट करप्शन (आईएसी) के दफ्तर में देशभर से नेताओं व ब्यूरोक्रेट्स के घोटालों से जुड़े दस्तावेजों के आने का सिलसिला तेज हो गया है। थोक के भाव में आ रहे इन दस्तावेजों की पड़ताल व चयन के लिए केजरीवाल ने बाकायदा रिसर्च एंड एनालिसिस विंग का गठन किया है। इस टीम में उच्चकोटि के छह पेशेवर स्वयंसेवी हैं। इनमें चार्टर्ड अकाउंटेंट, आईआईएम के गेस्ट लेक्चरर, आईआईटीयन, एडवोकेट, जर्नलिस्ट और एक मैनेजमेंट ग्रेजुएट शामिल है। सुरक्षा कारणों से इन के नाम उजागर नहीं किए गए हैं, लेकिन सभी दिल्ली में ही रहते हैं। रिसर्च टीम इस समय करीब एक दर्जन मुद्दों पर काम कर रही है। इनका आने वाले दिनों में खुलासा हो सकता है।