19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
कभी दुश्मन के खून से खेलता था होली, आज थामे है स्याही वाली कलम
19-10-2012
चार-पाँच साल पहले तक इसराइल के गिलाद शालित नामक युवक अकसर सुर्खियों में रहता था, उसके बारे में टीवी चैनल और अखबार वाले ख़बरें छापते थे. आज यही युवक खेल पत्रकार बन दूसरों के बारे में ख़बरें छाप रहा है. ये वही इसराइली सैनिक है जिसे जून 2006 में फ़लस्तीनी गुट हमास ने अगवा कर लिया था. उस समय गिलाद केवल 19 साल के थे. पिछले 26 सालों में ज़िंदा रिहा किए जाने वाले वे पहले इसराइली सैनिक हैं. हमास ने पाँच साल तक गिलाद को बंदी बनाकर रखा था. गिलाद जब क़ैद थे तो उन्हें इसराइल समेत कई देश के लोगों की सहानुभूति मिली. लेकिन रिहाई के बाद वे सुर्खियों से गा़यब हो गए. आजकल वे एक मशहूर इसराइली अख़बार में बतौर खेल पत्रकार काम करते हैं. वे मियामी जाकर एनबीए बास्किटबॉल फाइनल और यूक्रेन जाकर यूरोपीय फ़ुटबॉल चैंपियनशिप कवर कर चुके हैं. रिहा होने के बाद से गिलाद लाइमलाइट से दूर ही रहे. हाल ही में अपने 26वें जन्मदिन पर उन्हें अपने जन्मदिन की पार्टी में मशहूर हस्तियों के साथ देखा गया था