19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
न्यूयॉर्क में लगी आग, भारत में भी अलर्ट
30-10-2012
 अमेरिका में चक्रवाती तूफान सैंडी तबाही (PHOTOS) मचा रहा है। (अमेरिका में सैंडी की तबाही की 11 ताज़ा तस्‍वीरें, देखें) 144 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार के साथ सैंडी (पढ़ें: अमेरिका के 10 भयानक तूफान, जिन्होंने निगली कई जान) स्‍थानीय समय के अनुसार आठ बजे न्यूजर्सी के तट से टकराया। न्यूजर्सी के तट से टकराने के कई घंटे बाद भी सैंडी कहर बरपा रहा है। तूफान के चलते 13 राज्यों और कोलंबिया डिस्ट्रिक्ट में 50 लाख लोगों को बिजली की सप्लाई नहीं मिल रही है। यातायात चरमरा गया है और करीब 14 हजार विमानों की उड़ानों को कैंसिल करना पड़ा। तूफान की चपेट में आने से न्यूयॉर्क के क्वींस इलाके में भीषण आग लग गई। लेकिन पानी भरे होने के कारण दमकल की यूनिट वहां तक जल्दी नहीं पहुंच सकी जिस कारण आग और भीषण हो गई। आग (तस्वीर में)  की चपेट में 20 से 25 घर आ गए हैं। आग पर काबू करने के लिए जद्दोजहद जारी है। तूफान के चलते न्यूयॉर्क में ईस्ट और हडसन नदियों के किनारों पर 13 फुट ऊंची लहरें उठीं और शहर की सड़कें और सबवे टनल पानी से भर गईं। न्यूयॉर्क मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्टेशन अथॉरिटी ने एक बयान में कहा है कि न्यूयॉर्क के सबवे सिस्टम इतिहास में यह अब तक की सबसे बड़ी त्रासदी है। ऊंची लहरों के चलते न्यूजर्सी स्थित अमेरिका के सबसे पुराने एटमी प्लांट ओइस्टर क्रीक न्यूक्लियर पावर प्लांट में भी अलर्ट जारी किया गया है। अमेरिका के तटीय शहरों बोस्टन, न्यूयॉर्क, फिलाडेल्फिया, बाल्टीमोर और वॉशिंगटन तूफान से प्रभावित हुए हैं।  न्यूयॉर्क के मेयर ने कहा है कि बुधवार तक तूफान से राहत मिलने की उम्मीद है। (10 तरीके: मुसीबत में ऐसे मोबाइल चार्ज रख रहे हैं अमेरिकी)  सैंडी तूफान के कहर में सिर्फ अमेरिका में अब तक 13 लोगों की जानें जा चुकी हैं। जबकि कनाडा में एक महिला की मौत भी इसी तूफान की चपेट में आने से हुई है। इससे पहले कैरेबियाई द्वीपों में सैंडी 67 लोगों की जान ले चुका है। कैरेबियाई क्षेत्र में सबसे ज़्यादा तबाही हैती में हुई है, जहां 51 लोग मारे गए हैं