19 February 2019



राष्ट्रीय
दिन भर की भागदौड़ और बच गई गडकरी की कुर्सी
07-11-2012
भ्रष्‍टाचार के आरोपों से घिरे भाजपा अध्‍यक्ष नितिन गडकरी को पार्टी का समर्थन मिल गया है। दिल्ली में कोर ग्रुप की बैठक के बाद पार्टी ने साफ कर दिया कि वो अपने अध्यक्ष के पीछे खड़ी रहेगी। 
कोर ग्रुप की बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए बीजेपी प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने  कहा, \'आज पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और महामंत्रयों की एक बैठक हुई जिसमें सुषमा स्वराज, राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, राम लाल, अनंथ कुमार, मुरलीधर राव और पार्टी के सभी राष्ट्रीय महामंत्री थे। बैठक में वित्तिय विश्लेषक एस गुरुमूर्ति को विशेष रूप से बुलाया गया था। गुरुमूर्ति ने बहुत ही विस्तार से सभी दस्तावेजों के साथ जांच की थी। आज उन्होंने करीब दो घंटे की बैठक में पार्टी को विस्तार से समझाया। आज बैठक में लालकृष्ण आडवाणी नहीं थे क्योंकि गुरुमूर्ति जी ने पहले ही उन्हें सबकुछ समझा दिया था। हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी ने बैठक से इसलिए दूर रहने का फैसला किया क्योंकि बैठक उन्हीं के ऊपर हो रही थी।\' भाजपा के वरिष्ठ नेताओं, कोर ग्रुप के सदस्यों और महामंत्रियों ने नितिन गडकरी पर लगे आरोपों के संबंध में बैठक की। चार्टर्ड अकाउंटेंड एस गुरुमूर्ति ने पार्टी को आरोपों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गडकरी ने नैतिक या वित्तिय रूप में कोई भी गड़बड़ी नहीं की है। पार्टी को उनके नेतृत्व में पूरा विश्वास है। वो किसी भी प्रकार की जांच के लिए तैयार हैं। पार्टी ने यह भी कहा कि उसके कार्यकर्ता सार्वजनिक स्थानों पर बोलने से बचे।