22 February 2019



राष्ट्रीय
फेसबुक के खिलाफ लखनऊ में एएफआइआर दर्ज
19-11-2012
सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के खिलाफ लखनऊ में एफआइआर दर्ज की गई है। कुछ फर्जी शिकायतों के आधार पर शहर के हुसैनगंज निवासी एवं पेशे से वकील व सामाजिक कार्यकर्ता प्रिंस लेनिन का अकाउंट बंद कर दिया गया था। पीड़ित वकील ने इसकी शिकायत साइबर क्राइम सेल से की। सेल की पहल पर हुसैनगंज कोतवाली में फेसबुक प्रबंधन व कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ आइटी एक्ट व षड्यंत्र की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। दो दिनों तक एकाउंट बंद रहने पर लेनिन ने फेसबुक प्रबंधन से इसकी शिकायत की। जांच के बाद उनका अकाउंट दोबारा शुरू तो हो गया, लेकिन षड्यंत्र करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। पीड़ित वकील ने इसकी शिकायत साइबर क्राइम सेल से की। सेल की पहल पर फेसबुक प्रबंधन व कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ आइटी एक्ट व षड्यंत्र की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। प्रिंस लेनिन ने पुलिस को दी तहरीर में कहा है कि वह सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के सदस्य हैं। फेसबुक पर वे अक्सर अराजक व असामाजिक लोगों का विरोध और उन पर उचित प्रतिबंध की माग करते रहे हैं। 11 नवंबर को बिना किसी पूर्व सूचना के फेसबुक पर उनकी सदस्यता प्रतिबंधित कर दी गई। यह प्रतिबंध 13 नवंबर तक रहा, जिससे उन्हें मानसिक कष्ट पहुंचा। प्रिंस लेनिन के अनुसार जब उन्होंने इस बाबत जानकारी की तो पता चला कि कुछ अराजक व असमाजिक तत्वों ने उनके फेसबुक एकाउंट के संबंध में फर्जी शिकायतें व साक्ष्य फेसबुक के सर्वर पर भेजी हैं। आरोप है कि फेसबुक प्रबंधन ने बिना किसी पड़ताल के उनकी सदस्यता अस्थाई रूप से प्रतिबंधित कर दी। शिकायत करने पर वैरीफिकेशन के बाद उनका अकाउंट तो चालू कर दिया गया लेकिन ऐसी झूठी सूचनाएं भेजने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। प्रिंस लेनिन के साथ ही पुलिस ने फेसबुक प्रबंधन से उनके अकाउंट पर मौजूद जानकारियों व सामग्री को सुरक्षित रखने की माग भी की है। साइबर क्राइम सेल के नोडल अधिकारी सीओ दिनेश यादव के मुताबिक वकील की तहरीर पर फेसबुक प्रबंधन व कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ आइटी एक्ट की धारा 66, 66 ए व 84 बी तथा आइपीसी की धारा 120 बी के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। इस बाबत पुलिस फेसबुक के अधिकारियों से भी संपर्क कर रही है।