19 February 2019



राष्ट्रीय
राज-उद्धव को मिलाने की कोशिश करेंगे चंदू मामा
20-11-2012
शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे की मौत के बाद उनके बहनोई चंद्रकांत वैद्य उर्फ चंदू मामा, राज और उद्धव को फिर से मिलाने की कोशिश करेंगे। बाल ठाकरे के अंतिम संस्कार के बाद मिड से बातचीत में 66 वर्षीय चंद्रकांत वैद्य कहा कि वे दोनों भाइयों को फिर से मिलाने की पूरी कोशिश करेंगे। ठाकरे परिवार में प्यार से चंदू मामा नाम से पुकारे जाने वाले वैद्य ने कहा कि मराठी मानुष की खातिर वे दोनों चचेरे भाइयों को फिर से एक साथ लाने की कोशिश करेंगे। उन्होंने साहेब से वादा किया है। ठाकरे परिवार के करीबी वैद्य ने कहा कि शिवसेना प्रमुख के लिए राज और उद्धव एक समान थे। राज ठाकरे के शिवसेना छोड़ने के बाद भी वे उनको बीच-बीच में याद किया करते थे। उनकी कोशिश रहती थी कि दोनों भाई फिर एक हो जाएं, परंतु अंतिम समय तक उनकी यह इच्छा पूरी नहीं हो पाई। वैद्य ने नम आंखों के साथ कहा कि साहेब के अंतिम संस्कार के समय प्रार्थना के दौरान मैंने यही प्रतिबद्धता जताई थी कि मैं दोनों भाइयों को एकजुट करने का पूरा प्रयास करूंगा और यही मेरी साहेब को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। वैद्य ने कहा कि बाल ठाकरे बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। वे एक अच्छे इंसान थे और उन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया। वैद्य ने कहा कि शिवसेना द्वारा दक्षिण भारतीयों के खिलाफ छेड़े आंदोलन के दौरान पूरे परिवार में केवल बाल ठाकरे ही थी जिन्होंने साउथ इंडियन लड़की के साथ मेरी शादी का समर्थन किया। उनके समर्थन की वजह से ही मैं शादी के बंधन में बंध सका। ठाकरे ने शादी करवाने के लिए एक रजिस्ट्रार को भी अपने घर पर बुलाया था। ठाकरे ने मुझसे कहा था कि उनकी लड़ाई साउथ इंडियनों के रवैये से है न किसी व्यक्ति विशेष से। उन्होंने न केवल मुझे नैतिक रूप से समर्थन किया बल्कि मेरी आर्थिक रूप से भी मदद की। (मिड डे)