22 February 2019



राष्ट्रीय
गुजरात: खेल बिगाड़ने में लगी है संघियों की जमात
28-11-2012
गुजरात विधानसभा चुनाव में  मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को कांग्रेस से अधिक संघियों की जमात से चुनौती मिल रही है। प्रवीण तोगडिय़ा, संजय जोशी और केशूभाई पटेल की तिगड़ी भगवा ब्रिगेड के सीटों का समीकरण बिगाड़ सकता है। मोदी अपनी इस चिंता को केंद्रीय नेतृत्व से साझा करते हुए तोगडिय़ा को साधने की जिम्मेदारी सौंप गए हैं। बीते 22 तारीख को भाजपा प्रत्याशियों का नाम तय करने दिल्ली पहुंचे मोदी ने केंद्रीय नेतृत्व के सामने संघी ब्रिगेड से मिल रही चुनौतियों का जिक्र किया। सूत्रों का कहना है कि मोदी ने केशूभाई पटेल, प्रवीण तोगडिय़ा और अपने धुर विरोधी संजय जोशी की तिगड़ी की सौराष्ट्र में सक्रियता को जीत की लिहाज से घातक बताया। सौराष्ट्र संभाग में विधानसभा की 50 से अधिक सीटें हैं। इस क्षेत्र में केशूभाई का काफी प्रभाव है और संघ तथा वीएचपी जैसे उसके आनुषांगिक संगठनों ने यहां काफी काम किया है। मोदी की इस चिंता को देखते हुए भाजपा आलाकमान तुरंत सक्रिय हुआ है। पार्टी ने अपने वरिष्ठ महामंत्री अनंत कुमार को 22 तारीख की रात में ही प्रवीण तोगडिय़ा से बातचीत की जिम्मेदारी सौंपते हुए उन्हें साधने को कहा। अनंत और तोगडिय़ा के बीच काफी लंबी बातचीत हुई। हालांकि बातचीत का कोई ब्यौरा नहीं मिल सका है लेकिन संभावना यह जताई जा रही है कि तोगडिय़ा से कोई आश्वासन अनंत कुमार को नहीं मिला है। सूत्रों का कहना है कि अनंत कुमार ने तोगडिय़ा से आग्रह किया है कि यदि वह भाजपा के पक्ष में माहौल नहीं भी बनाते हैं तो कम से कम विरोध का काम नहीं करें।