24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
बंदी तालिबान आतंकियों को परिजनों से बातचीत की अनुमति
01-12-2012
पाकिस्तान ने हिरासत में लिए गए कुछ प्रमुख तालिबान नेताओं को राहत दी है। उन्हें अपने परिवार वालों के साथ टेलीफोन पर बातचीत करने की अनुमति दी गई है। इनमें मुल्ला उमर का सहायक मुल्ला अब्दुल गनी बरादर भी शामिल हैं। पाकिस्तान टुडे की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि बरादर और तालिबान के अन्य करीब 10 प्रमुख कमांडरों के परिजनों को उनसे मिलने की भी अनुमति दी गई है। पूर्व न्याय मंत्री मुल्ला नूरुद्दीन तुराबी के रिश्तेदार भी उनसे मुलाकात कर सकेंगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि विभिन्न जेलों में रखे गए अफगान तालिबान कमांडरों को अब कुछ आरामदायक स्थानों पर ले जाया गया है। हाल ही में अफगान हाई पीस काउंसिल के सदस्यों के इस्लामाबाद दौरे के दौरान पाकिस्तान ने करीब दर्जन भर तालिबान नेताओं को रिहा किया था। इसके बाद उसकी ओर से यह नया कदम उठाया गया है। संघर्ष प्रभावित देश अफगानिस्तान में शांति और सामंजस्य स्थापित करने के प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान तुराबी को रिहा कर सकता है। उसके बीमार होने की खबर है। अफगानिस्तान लंबे समय से मांग कर रहा है कि पाकिस्तान प्रमुख तालिबान नेताओं को रिहा कर दे।