16 February 2019



खेलकूद
लकी कैप्टन कुक रन आउट, इंग्लैंड बड़े बढ़त की ओर
07-12-2012

कोलकाता। दो आसान जीवनदान पाने वाले कप्तान एलिस्टर कुक [190] की बेहतरीन पारी अंक बड़े ही दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से हुआ और अजीबोगरीब ढंग से रन आउट हो गए। कुक के लगातार तीसरे शतक की बदौलत इंग्लैंड ने तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन भारत पर 65 रनों की बढ़त बना ली है। टी-ब्रेक तक इंग्लैंड ने तीन विकेट के नुकसान पर 381 रन बना लिए हैं। प्रज्ञान ओझा ने जोनाथन ट्राट [87] को विकेटकीपर धौनी के हाथों कैच आउट कराकर पहली सफलता दिलाई। क्रीज पर केविन पीटरसन [29] और इयान बेल [3] खेल रहे हैं। पहले सत्र में असफलता के बाद संघर्ष करते हुए दूसरे सत्र में प्रज्ञान ओझा ने भारत को दिन की पहली सफलता दिला दी। ओझा ने जोनाथन ट्राट [87] को कैच आउट कराया। दिन की दूसरी सफलता कुक के रूप में मिला। विराट कोहली ने सटीक थ्रो कर बड़े ही नाटकीय अंदाज में कुक को रन आउट किया। कुक ने 377 गेंदों में 23 चौके व दो छक्के की मदद से 190 रनों की पारी खेली। ट्राट ने कप्तान के साथ दूसरे विकेट के लिए 173 रनों की शतकीय साझेदारी निभाई। पहले विकेट के लिए 165 रनों की शतकीय साझेदारी करने के बाद कुक ने दूसरे विकेट के लिए भी जोनाथन ट्राट के साथ भी शतकीय साझेदारी निभाई। कुक ने सीरीज में दूसरी बार डेढ़ सौ से ज्यादा रन बनाए हैं हालंकि दोहरे शतक से मात्र दस रन से चूक गए। बतौर कप्तान कुक ने लगातार पांचवां शतक लगाया है जो कि एक विश्व रिकॉर्ड है। कुक का बढि़या साथ देते हुए ट्राट ने आज अपना अर्धशतक पूरा कर लिया जो उनके करियर का 13वां पचासा रहा। हालांकि लाजवाब बल्लेबाजी करने वाले कुक कुछ भाग्यशाली भी रहे कल वह 17 रन के अपने निजी स्कोर पर चेतेश्वर पुजारा के हाथों आसान जीवनदान मिला। आज भी उन्हें एक और जीवनदान मिला जब वह 156 रन के निजी स्कोर पर थे। ईशांत शर्मा ने काटएंडबोल्ड का आसान मौका गंवा दिया। इससे पहले कुक और ओपनर निक कांप्टन [57] के बीच पहले विकेट के लिए 165 रनों की साझेदारी की थी। प्रज्ञान ओझा ने कल कांप्टन को पगबाधा कर भारत को पहली सफलता दिलाई थी। इससे पूर्व भारत ने पहली पारी में 316 रन बनाए थे। भारतीय पारी में सचिन तेंदुलकर, गौतम गंभीर और कप्तान धौनी ने अर्धशतक लगाए। जबकि मोंटी पनेसर ने चार और जेम्स एंडरसन ने तीन विकेट झटके।