16 February 2019



खेलकूद
भारत ने 28 साल बाद इंग्लैंड के हाथों गंवाई सीरीज
17-12-2012

नागपुर। पिच के बदले मिजाज का फायदा उठाते हुए जोनाथन ट्राट [143] और इयान बेल [नाबाद 116] ने भारतीय सरजमीं पर अपने खराब प्रदर्शन को पीछे छोड़ते हुए शानदार शतक जमा लिए वहीं भारत को नागपुर टेस्ट के ड्रा होने के साथ ही टेस्ट सीरीज को 1-2 से गंवाना पड़ा। इसके साथ ही टीम इंडिया का घरेलू मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ 28 सालों से चला आ रहा विजयी अभियान आज खत्म हो गया। भारत को टेस्ट सीरीज बचाने के लिए यह मैच हर हाल में जीतना था लेकिन ट्राट और बेल ने चौथे विकेट के लिए दोहरी शतकीय साझेदारी [208 रन] करने के बाद अपने-अपने शतक जमाकर मेजबान टीम की जीत की उम्मीदों को ध्वस्त कर दिया। इंग्लैंड ने दूसरी पारी में चार विकेट पर 352 रन बनाए। मैच का परिणाम निकलता न देख खेल को एक घंटा पहले ही खत्म कर दिया गया। कप्तान धौनी ने स्वदेश में पहली बार टेस्ट सीरीज गंवाया है। इस मैच में इंग्लैंड ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 330 रन बनाए। इसके बाद भारत ने अपनी पारी नौ विकेट पर 326 रन बनाकर पारी घोषित कर दी थी। भारत की ओर से विराट कोहली ने शतक और कप्तान धौनी ने 99 रनों का योगदान दिया था। इंग्लैंड ने इससे पूर्व 1984-85 में भारत में आखिरी बार टेस्ट सीरीज अपने नाम किया था। साथ ही भारत की पिछले आठ सालों में यह पहली हार भी है। इससे पूर्व भारत ने 2004-05 में ऑस्ट्रेलिया के हाथों 2-1 से गंवाया था। एंड्रयू स्ट्रास के संन्यास लेने के बाद नए कप्तान एलिस्टर कुक की अगुवाई में इंग्लैंड ने अहमदाबाद टेस्ट में नौ विकेट से मिली हार के बाद जोरदार वापसी की और मुंबई व कोलकाता में जबर्दस्त जीत हासिल करते हुए सीरीज में अजेय बढ़त बना ली। इंग्लैंड की इस जीत में कुक का अहम योगदान रहा है। उन्होंने इस सीरीज में तीन शतक के साथ पांच सौ ज्यादा रन बनाए। कुक ने चार मैचों में कुल 562 रन बनाए थे। जबकि भारत की ओर से चेतेश्वर पुजारा ने इतने ही मैचों में 438 रन बनाए। कुक के बाद पुजारा सर्वाधिक रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज रहे। प्रज्ञान ओझा और ग्रीम स्वान ने 20-20 विकेट झटककर दोनों टीमों की ओर से सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज रहे। मैच के पांचवें दिन पिच का मिजाज बदल चुका था और वह पूरी तरह से बल्लेबाजी के माकूल हो चुकी थी। बल्लेबाजों ने बदले मिजाज का फायदा उठाते हुए जमकर रन बटोरे। ट्राट ने कल अपनी अर्धशतकीय पारी को शतक में बदला। उन्होंने भारत के खिलाफ अपना पहला और करियर का आठवां शतक जमाया। इससे पूर्व आज बेल ने सीरीज में अपना पहला पचासा जमाया। दोनों ने आराम से खेलते हुए इस साझेदारी को 208 रनों तक बढ़ाया। लंबे जद्देजहद के बाद अश्विन ने टी-ब्रेक से कुछ समय पूर्व इस साझेदारी को तोड़ा। अश्विन ने लेग स्लिप में ट्राट को विराट कोहली के हाथों कैच आउट कराया। हालांकि इन दोनों बल्लेबाजों को अंपायरों के कुछ गलत फैसलों का फायदा भी मिला। भारतीय सरजमीं पर अपनी निराशाजनक प्रदर्शन को समाप्त करते हुए बेल ने शानदार शतक जमाया। चायकाल के बाद पूरी तरह से निरस हो चुके मैच में बेल ने शानदार शतक जमाया। बेल ने नवोदित बल्लेबाज जोई रुट [नाबाद 20] के साथ पांचवें विकेट के लिए अविजित 50 रनों की साझेदारी की। मैच का परिणाम न निकलते देख खेल को एक घंटे पूर्व ही समाप्त कर दिया गया।