19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
21 दिसंबर के डर के चलते सहमे लोग, कर रहे हैं खूब खरीदारी
18-12-2012
चीन ने लोगों से महाप्रलय से जुड़ी मिथ्याओं और इस पर उड़ रही अफवाहों से बचने की अपील की है। गौरतलब है कि माया कलैंडर के मुताबिक 21 दिसंबर 2012 को दुनिया खत्म हो जाएगी। इस दिन को लेकर दुनियाभर में बहस जारी है। कुछ माया कलैंडर की घोषणा को सिरे से खारिज कर रहे हैं तो कुछ इसको सच भी मान रहे हैं। इस तारीख को लेकर लोगों में डर भी बैठा है। चीन में कई जगहों पर डरे सहमे लोगों ने आपात समय के लिए चीजों को एकत्रित करना शुरू कर दिया है। इसके चलते यहां पर लोगों द्वारा खरीदारी भी बढ़चढ़कर की जा रही है। पुलिस ने इस संबंध में वांगचुंग काउंटी से दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इन पर आरोप है कि यह दोनों लोगों में 21 दिसंबर को लेकर दहशत फैला रहे थे। इस दौरान तीन दिनों तक भयंकर अंधकार की अफवाह के बाद शिछुन और जिलीन में स्टोर्स से मोमबत्तियों की बिक्री इतनी अधिक हुई है कि वहां पर अब इसकी कमी पड़ने लगी है। नेशनल एस्ट्रॉनोमिकल ऑब्जरवेशन के यांगगॉन्ग ने 21 दिसंबर पर धरती के तबाह हो जाने की खबर को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा है कि इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है, न ही पृथ्वी पर कोई असमान्य बदलाव की कहीं कोई जानकारी मिली है। उन्होंने दिन और रात के समय में हो रहे बदलाव को सामान्य प्रक्रिया बताया है। कुछ लोगों ने 21 दिसंबर को लेकर उड़ रही अफवाहों के चलने लोगों को ठगने का भी आरोप लगाया है। चीन के हॉन्गलॉन्ग प्रांत में भी पुलिस ने अफवाह फैलाने सात लोगों को हिरासत में लिया है।