24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
अमेरिकी सुंदरी बनी मिस यूनिवर्स
20-12-2012

लॉस एंजिलिस। 14 साल बाद मिस यूनिवर्स का खिताब अमेरिकी सुंदरी ने जीता है। बुधवार को लॉस वेगास के प्लेनेट हॉलीवुड कैसिनो में आयोजित प्रतियोगिता में 88 देशों की सुंदरियों को पछाड़ कर ओलिविया कल्पो ने यह खिताब हासिल किया। उन्हें पिछले साल की मिस यूनिवर्स अंगोला की लीला लोपेज ने ताज पहनाया। भारत की शिल्पा सिंह आखिरी दस में जगह बनाने में नाकाम रहीं। फिलीपींस की जैनी तुगोनो दूसरे स्थान, जबकि वेनेजुएला की इरेने ईसर तीसरे स्थान पर रहीं। बिहार की 23 वर्षीय शिल्पा 2007 के बाद टॉप 16 में पहुंचने वाली पहली भारतीय सुंदरी हैं। इससे पहले 2000 में यह खिताब लारा दत्ता ने जीता था। वैसे पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन ने शिल्पा की कोशिशों की तारीफ की है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, \'शिल्पा पांच साल बाद भारत को टॉप 16 में ले गई।\' कंप्यूटर में स्नातक शिल्पा फिलहाल इंफोसिस कंपनी में कार्यरत हैं। 20 वर्षीया बोस्टन यूनिवर्सिटी की छात्रा कल्पो अमेरिका के रोड्स आइलैंड के क्रैंसटन में पली बढ़ी हैं। एक दशक से ज्यादा समय बाद कोई अमेरिकी सुंदरी मिस यूनिवर्स बनी है। इससे पहले 1997 में अमेरिका की ब्रूक ली ने मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता जीती थी। कल्पो फिल्म या टेलीविजन में अपना करियर बनाना चाहती हैं। उनके मातापिता संगीतकार हैं। उन्हें वायलिन बजाने का शौक है। मशहूर अमेरिकी गायक सी लो ग्रीन, वेनेजुएला के बेस बॉल चैंपियन पाबलो सैंडोवाल, जापान के मशहूर शेफ माशाहारू ओरीमोतो और अमेरिकी बीच वालीबॉल चैंपियन केरी वाल्स जेनिंग्स प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में शामिल थे।