19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
मौत की सजा खत्म करना शरिया के खिलाफ
25-12-2012
पाकिस्तान सरकार को सलाह देने वाली एक संवैधानिक संस्था ने कहा है कि मौत की सजा को खत्म करना शरिया के खिलाफ है। इसलिए इसे हटाने के बारे में न सोचा जाए। अगर सरकार इस संबंध में कोई विधेयक पेश करना चाहती है तो पहले इस पर व्यापक विचार-विमर्श कर ले। सरकार यूरोपियन यूनियन से कारोबारी लाभ पाने के लिए मौत की सजा को हटाकर उसे आजीवन कारावास में तब्दील करने का कानून बनाना चाहती है। लेकिन शरिया मामलों पर सरकार को सलाह देने वाली परिषद ने इसका विरोध किया है। उसने कहा है कि सरकार कानून में बदलाव से पहले उसकी राय जरूर ले। मौलाना मुहम्मद खान शेरानी की अध्यक्षता में परिषद की बैठक में इसका फैसला किया गया। कई सेवानिवृत्त जज भी इस संवैधानिक परिषद के सदस्य हैं।