19 February 2019



राष्ट्रीय
विकास को लेकर सरकार के पास कोई रोड मैप नहीं: मोदी
27-12-2012

नई दिल्ली। चौथी दफा गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद गुरुवार एनडीसी की बैठक के लिए दिल्ली पहुंचे गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनर्जी सेक्टर को लेकर केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि विकास को लेकर सरकार के पास कोई रोड मैप नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारे देश में फ्यूल कमी की वजह से ही कई पावर प्लांट अधर में लटके हुए हैं। इसलिए सरकार को फ्यूल पॉलिसी बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में प्राकृतिक संसाधनों में भी कमी हो रही है। बगैर किसी पर निशाना साधते हुए मोदी ने साफ कहा कि विकास के मुद्दे पर कैसे गुजरात आगे है और यूपीए काफी पीछे है। एनडीसी की बैठक में पीएम और मोंटेक सिंह अहलूवालिया के भाषण पर निराशा जताते हुए मोदी ने कहा कि विकास के लिए केंद्र सरकार की सभी नीतियां पैरालाइज्ड हो चुकी हैं, इसलिए सरकार को एक नई दिशा की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अगर राज्यों से जमीन ली जाती है तो उन्हें उसका हिस्सा देना भी सरकार की ही जिम्मेदारी बनती है। भले ही नरेंद्र मोदी आज प्रधानमंत्री के नेतृत्व में बुलाई गई एनडीसी की बैठक में हिस्सा लेने आए हैं लेकिन बीजेपी ने यहां उनके स्वागत की शानदार तैयारी की है। मोदी यहां भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से मिलने की योजना लेकर आएं हैं। इसके साथ ही सबकी निगाहें इस बात पर टिकी हुई है कि इस बैठक में मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का आमना-सामना होता भी है या नहीं। गौरतलब है कि मोदी की तीसरी जीत पर चुप्पी साधे हुए नीतीश कुमार मोदी के शपथ ग्रहण समारोह से भी नदारद रहे। राजनीतिक विश्लेषक इस बात पर कयास लगा रहे हैं कि कहीं नीतिश वर्ष 2010 के बिहार चुनाव की परिस्थितियों को दोहरा रहे हैं एनडीसी की इस बैठक में कई राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए। साल 2014 के लोकसभा चुनाव और अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों का असर 12वीं पंचवर्षीय योजना (2012-17) पर भी दिख रहा है। आम जन के हितों पर फोकस करते हुए सरकार ने अगले पांच साल के लिए सामाजिक विकास के एजेंडे को सबसे ऊपर कर लिया है। इसके लिए सरकार ने 12वीं योजना में सभी प्रमुख केंद्र प्रायोजित स्कीमों के आवंटन में भारी भरकम वृद्धि की है। गुरुवार को होने वाली राष्ट्रीय विकास परिषद की बैठक में सरकार राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ इस योजना के दस्तावेज पर चर्चा करेगी। इसके साथ ही सरकार 2013 में कई राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर ही योजना के दस्तावेज तैयार करेगी। इस बैठक में मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी मौजूदगी दर्ज कराने के लिए गुरुवार को दिल्ली आ रहे हैं।