24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
विदेशी मीडिया में छायी गैंगरेप पीड़िता की मौत
29-12-2012
दिल्ली में 16 दिसंबर को सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई युवती की मौत की खबर शनिवार को विदेशी मीडिया की वेबसाइटों पर भी छायी रही। ब्रिटिश अखबार \'द डेली मेल\' ने अपनी वेबसाइट पर उसकी मौत की खबर के साथ उसके शव को स्ट्रेचर पर लेते जाते अस्पतालकर्मियों की फोटो लगाई। साथ में एक बैनर वाली फोटो लगाई, जिसमें सोनिया, मनमोहन और शीला दीक्षित से इस्तीफा देने को कहा गया है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने शीर्षक लगाया \'विक्टम ऑफ गैंगरेप इन इंडिया डाइज दैट गैल्वनाइजड इंडिया\'। [भारत में गैंगरेप पीड़ित की मौत, जिसने भारत को हिला दिया]। अखबार ने लिखा कि पीड़िता ने शांतिपूर्वक आखिरी सांस ली। उसकी मौत उन खतरों के प्रति चेतावनी है जिसका सामना भारत में महिलाएं कर रही है। वाशिंगटन पोस्ट ने विशेषज्ञों के हवाले से लिखा कि इस घटना ने आम तौर पर उदासीन रहने वाले भारतीयों को झकझोर दिया। इस घटना के प्रति जनाक्रोश बदलती जीवनशैली, सोशल मीडिया के उपयोग और मुखर मध्यवर्ग के कारण भी बढ़ा। इन्ही कारणों के चलते पिछले साल भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन को सफलता मिली थी। टाइम मैगजीन ने पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प का फोटो फीचर जारी किया है। बीबीसी ने लिखा कि पीड़िता की मौत के बाद दिल्ली में हाई अलर्ट। लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की गई है। पाकिस्तान के जियो टीवी की वेबसाइट पर पीड़िता की खबर को प्रमुखता दी गई। खबर के साथ सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ हॉस्पिटल की फोटो भी लगाई गई। प्रमुख अखबार द डान ने इस खबर को अपनी प्रमुख खबरों की श्रेणी में \'इंडियन रेप विक्टम डाइज इन हॉस्पिटल\' शीर्षक से लगाया। इसमें भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा पीड़िता की मौत पर शोक व्यक्त करने का भी जिक्र किया गया। बांग्लादेशी अखबार डेली स्टार ने भी फिजियोथेरेपिस्ट की मौत की खबर को प्रमुखता दी।