19 February 2019



राष्ट्रीय
10 हजार करोड़ कटौती के बाद हावी होगी ड्रैगन की चुनौती
03-01-2013
वित्त मंत्रालय द्वारा देश के रक्षा बजट में पहली बार की गई कटौती से सेना के आधुनिकीकरण व हथियार खरीदी की योजनाओं पर ब्रेक लगने की आशंका है। कटौती के बाद लाल ड्रेगन चीन की सीमा पर तैनाती के लिए प्रस्तावित दो पर्वतीय स्ट्राइक कोर की योजना के खटाई में पड़ने के आसार हैं। अरुणाचल प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों के लिए इस कोर का गठन किया जाना था। सैन्य बलों के आधुनिकीकरण के लिए निर्धारित खर्च में से 12.5  प्रतिशत मतलब करीब 10 हजार करोड़ की कटौती के बाद करीब 60 हजार करोड़ की यह योजना संकट में है। सामान्यत एक नई डिवीजन में दस हजार तक जवान होते हैं  वहीं कोर में यह संख्या 20से 40 हजार तक होती है। इसके अलावा वायुसेना के लिए 126 लड़ाकू विमानों की खरीदारी व 197 लाइट यूटिलिटी हैलीकॉप्टरों की खरीद को भी अगले वित्त वर्ष के लिए टाल दिया गया है। इसके अलावा हाल ही में रूस से हुए करीब 25 हजार करोड़ के रक्षा समझौतों पर भी कटौती का असर दिखने की आशंका है।