15 February 2019



राष्ट्रीय
एलओसी पर फ्लैग मीटिंग खत्म, भारत ने जताया कड़ा विरोध
14-01-2013
पुंछ में गत सप्ताह पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा भारत के दो जवानों के सिर काटे जाने से पैदा हुए विवाद को खत्म करने के लिए सोमवार को चक्कां दा बाग में दोनों सेनाओं के बीच फ्लैग मीटिंग निर्धारित समय से 50 मिनट देरी से शुरू हुई। लगभग 20 मिनट तक जारी यह बैठक पौने दो बजे संपन्न हो गई। भारतीय सेना की 10 ब्रिगेड के कमांडर ब्रिगेडियर डीएस संधु ने बैठक में भाग लिया और पाकिस्तानी कार्रवाई की निंदा करते हुए शहीद जवानों के सिर को लौटाने को कहा। इससे पहले पाक सेना की हरकत पर सख्त रुख अपनाते हुए सेनाध्यक्ष विक्रम सिंह ने कहा है कि पाक सेना की हरकत माफी लायक नहीं है। पाक सेना ने जवाबी कार्रवाई के लिए उकसाया है लेकिन पाकिस्तान ने अब सीज फायर का उल्लंघन किया तो जवाबी कार्रवाई नहीं आक्रामक रुख होगा। दो जवानों की शहादत को सलाम करते हुए सेनाध्यक्ष ने 6 फरवरी को सीज फायर उल्लंघन के आरोप को निराधार बताया। सेनाध्यक्ष ने कहा कि शव के साथ बर्बरता के मुद्दे को फ्लैग मीटिंग में उठाया जाएगा। पाकिस्तानी सेना के सारे आरोप को खारिज करते हुए सेनाध्यक्ष ने कहा कि पाक सेना का हमला प्लानिंग के तहत हुआ। जम्मू-कश्मीर के सीमावर्ती पुंछ इलाके मे चक्कां दा बाग में होने वाली इस बैठक में भारतीय सैन्य अधिकारी पाकिस्तानी करतूत पर अपना सख्त विरोध दर्ज कराएंगे। भारतीय सेना की तरफ से ब्रिगेडियर टीएस संधू नेतृत्व करेंगे। पाकिस्तानी सेना से शहीद हेमराज के सिर की मांग भी की जाएगी। दो दिन तक भारतीय सेना के संदेश का कोई जवाब नहीं देने के बाद पाकिस्तानी सेना आखिरकार फ्लैग मीटिंग के लिए राजी हो गई। उधर वायु सेनाध्यक्ष एन ए के ब्राउन ने पाकिस्तान के रवैए में बदलाव नहीं होने पर दूसरे विकल्प की बात कहते हुए कड़ी चेतावनी दी है। पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की कोशिशें अब भी जारी हैं। इसके बावजूद पाकिस्तान से अपना च्च्चायुक्त वापस बुलाने की विपक्ष की मांग को सरकार अभी गैर जरूरी और अव्यावहारिक मान रही है। पाकिस्तानी सैनिकों ने बीते मंगलवार को भारतीय सीमा में घुसपैठ कर सेना के दो जवानों की हत्या कर दी थी और एक का सिर अपने साथ ले गए थे। इसके बाद भारतीय सेना ने गत 11 जनवरी को हॉटलाइन पर पाकिस्तानी सेना को फ्लैग मीटिंग का संदेश भेजा था। सेना प्रवक्ता के मुताबिक सोमवार दोपहर एक बजे पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर स्थित चक्कां दा बाग में यह फ्लैग मीटिंग होगी। इसमें भारत और पाकिस्तान की सेना के ब्रिगेडियर स्तर के अधिकारी शामिल होंगे। भारत इस बैठक के जरिये पाकिस्तानी सेना की अमानवीय करतूत की शिकायत पाकिस्तानी अधिकारियों से करना चाहता है। बैठक के दौरान इस घटना पर पाकिस्तान का रवैया स्पष्ट हो सकेगा। वैसे इस मामले में सरकार अभी संयम खोना नहीं चाहती। इस घटना की प्रतिक्त्रिया में पाकिस्तान से अपने च्च्चायुक्त को वापस बुला लेने की विपक्ष की मांग को अभी गैरजरूरी माना जा रहा है। सरकार के एक च्च्च सूत्र ने रविवार को इस बारे में कहा, अभी इसका समय नहीं आया है। विरोध करने के लिए अभी हमारे पास कई और विकल्प हैं। इधर आज नियंत्रण रेखा पर तनाव कम करने को लेकर भारत- पाक के बीच फ्लैग मीटिंग होने वाली है। उधर एक दिन पहले रविवार को पाकिस्तान ने एक बार फिर से संघर्षविराम का उल्लंघन किया। जम्मू कश्मीर के पुंछ सेक्टर में पाक सैनिकों ने रविवार की शाम फिर फायरिंग की।