19 February 2019



राष्ट्रीय
जब मोदी सरकार ने की थी कादरी की मेहमानवाजी
17-01-2013
पाकिस्तान में जिस मौलाना ताहिर उल कादरी के लॉन्ग मार्च से पाकिस्तान की हुकूमत सहमी है उसी कादरी के लिए गुजरात की मोदी सरकार पिछले साल पलकें बिछा चुकी है। एक अंग्रेजी अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक पिछले फरवरी में कनाडाई नागरिक कादरी गुजरात की भाजपा सरकार के अतिथि रह चुके हैं। गुजरात दौरे के दौरान सूफी विद्वान ने टेलीविजन पर करीब दो घंटे भाषण दिया था। इस दौरान उन्होंने लोगों को गीता और कुरान का पाठ पढ़ाया था। कादरी पूरी दुनिया में शैक्षणिक और धार्मिक संगठन चलाते हैं। भाषण से कादरी ने अपने धर्मनिरपेक्ष छवि को दिखाया। उन्होंने उस समय मुसलमानों से 2002 के दंगों से आगे बढ़ने की बात कही थी। उन्होंने गुजरात सरकार की अप्रत्यक्ष ढंग से तारीफ करते हुए कहा था कि 2002 के बाद फिर कभी दंगा नहीं हुआ इतना ही नहीं दंगों के दोषियों को सजा भी दी जा रही है। उस कार्यक्रम में मोदी सरकार के मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता भूपेंद्र सिंह चुंडसामा भी शामिल थे। भाजपा नेता ने कादरी की तारीफ में कहा कि जेहादी कट्टरपंथियों की खिलाफत करते हुए कादरी एक सांप्रदायिक सौहार्द स्थापित करने वाले इंसान हैं।