16 February 2019



राष्ट्रीय
कांग्रेस की ओर से राहुल होंगे भविष्य के पीएम
18-01-2013
जयपुर में शुक्रवार से शुरू हो रही कांग्रेस की चिंतन बैठक से पहले राहुल गांधी को पीएम बनाने की मांग तेज हो गई है। चिंतन शिविर में पहुंचे उत्तराखंड के सीएम विजय बहुगुणा ने राहुल गांधी को भविष्य का प्रधानमंत्री बताया है। उन्होंने कहा कि राहुल के अंदर पीएम बनने की सारी काबिलियत मौजूद है। अगला लोकसभा चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। कांग्रेस के यह चौथा चिंतन शिविर है और पहली बार चिंतन शिविर में इतनी तादाद में कांग्रेस के युवा नेता पहुंचे हैं। यहां एनएसयूआइ और युवा कांग्रेस के सौ से अधिक नेताओं के पहुंचने की उम्मीद है। इसी वजह से माना जा रहा है कि इस बार बुजुर्गो के चिंतन के बदले युवाओं का हल्लाबोल ज्यादा हो सकता है। दरअसल, पहली बार समस्याओं और चुनौतियों पर चिंतन के लिए पार्टी में दबदबा वरिष्ठ नेताओं का नहीं, युवाओं का होगा। लंबे समय तक पार्टी की रीति नीति तय करते रहे प्रणब मुखर्जी, कर्ण सिंह, माखन लाल फोतेदार, नटवर सिंह जैसे वरिष्ठों में से कोई भी शिविर में मौजूद नहीं होगा। संकेत है कि बैठक में धीर गंभीर चर्चा में जोश का तड़का लगेगा। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के काल में दो चिंतन बैठकें हो चुकी हैं। पंचमढ़ी में कांग्रेस ने एकला चलो का नारा दिया था तो शिमला में गठबंधन की खोज के सहारे सत्ता में पहुंचने की राह तलाशी गई थी। यह वह काल था जब राजनीति के मंजे हुए कांग्रेस नेताओं पर सबकी नजर लगी थी। जयपुर से युवाओं की बढ़ी हुई भूमिका का संदेश जा सकता है। इस बैठक में युवा कांग्रेस के 54 और एनएसयूआइ के 45 सदस्य होंगे। बताते हैं कि अवसर देखकर कांग्रेस का युवा वर्ग युवाओं की भूमिका बढ़ाने का मामला उठा सकते हैं। यह आशंका भी है कि कुछ लोग वरिष्ठ नेताओं की ओर से युवाओं की राह में बिछाए जाने वाले अवरोध का जिक्र करें। कुछ माह पहले ही कांग्रेस ने राहुल गांधी को चुनाव संचालन समिति की कमान देकर युवाओं की भागीदारी का संकेत दे दिया था। संभव है कि जयपुर से इसके विस्तार का रास्ता तैयार हो।