17 February 2019



प्रमुख समाचार
प्रधानमंत्री ग्राम-सड़क योजना में अन्य प्रदेशों के ठेकेदारों ने भी दिखाई रुचि
22-01-2013

मध्यप्रदेश में ग्रामीण विकास की विभिन्न योजनाओं का तेजी से क्रियान्वयन हो रहा है। इस वर्ष प्रधानमंत्री ग्राम-सड़क योजना में बड़ी संख्या में नई सड़कों के निर्माण की मंजूरी केन्द्र से मिली है। वर्ष २०१२-१३ में अब तक ५ हजार किलोमीटर लम्बी नई सड़कों के निर्माण की स्वीकृति मिल चुकी है। राज्य में वर्तमान में मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण द्वारा करीब १० हजार किलोमीटर लम्बी सड़कों का विकास किया जा रहा है। इसके साथ ही पुरानी सड़कों के सुदृढ़ीकरण तथा नवीनीकरण के काम भी बड़े पैमाने पर किये जा रहे हैं।

राज्य के ग्रामीण अंचलों में बन रही सड़कों की गुणवत्ता के साथ ही सड़क निर्माण के कार्य समयावधि में पूरे करने के इस मक़सद से देश के अन्य राज्यों के सड़क निर्माता ठेकेदारों को आमंत्रित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। प्रदेश में प्रधानमंत्री ग्राम-सड़क योजना में बनाई जा रही सड़कों में निविदाकारों की भागीदारी तथा प्रतिस्पर्धा बढ़ाने के लिये राज्य के साथ ही अन्य प्रदेशों के ठेकेदारों को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है। प्रदेश में नये निविदाकारों की सहभागिता बढ़ाने के लिये सड़क मेंटीनेंस के कार्यों की निविदा शर्तों में किये गये बदलावों के बेहतर परिणाम सामने आये हैं।

मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण द्वारा इस उद्देश्य से गत दिनों हैदराबाद में बिल्डर्स एसोसिएशन ऑफ आंध्रप्रदेश के सहयोग से कान्ट्रेक्टर्स मीट का आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में आंध्रप्रदेश के निविदाकारों ने भागीदारी की। इस अवसर पर बिल्डर्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बी. सिन्हैया, आंध्रप्रदेश राज्य बिल्डर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री पल्ला मोहन रेड्डी तथा हैदराबाद बिल्डर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री बी. सुधाकर सहित निविदाकारों ने मध्यप्रदेश में सड़क निर्माण की योजनाओं में भागीदारी के प्रति उत्साह दिखाया।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी देश के विभिन्न राज्यों में कान्ट्रेक्टर्स मीट का आयोजन किया जा चुका है। अब तक जयपुर तथा उदयपुर (राजस्थान), नागपुर (महाराष्ट्र), इलाहाबाद (उत्तरप्रदेश) और अहमदाबाद (गुजरात) में कान्ट्रेक्टर्स मीट का आयोजन कर मध्यप्रदेश में सड़क निर्माण के लिये ठेकेदारों को आमंत्रित करने की पहल की गई है। इसके अलावा प्रदेश में भोपाल और जबलपुर में भी कान्ट्रेक्टर्स मीट का आयोजन हो चुका है, जिसमें बड़ी संख्या में राज्य के ठेकेदारों ने भागीदारी की। इस कड़ी में अगला आयोजन ग्वालियर में होने जा रहा है।