19 February 2019



राष्ट्रीय
हनी के गानों पर पाबंदी के बजाए उसका बहिष्कार करें
27-01-2013
जयपुर साहित्य उत्सव में बौद्धिक चिंतन के बीच ही फूहड़ गानों के खात्मे का नया सुझाव सामने आया। पत्रकार शोमा चौधरी ने शनिवार को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सत्र में कहा, किसी को कला की अभिव्यक्ति से नहीं रोका जा सकता। अगर आप को पंजाबी गायक हनी सिंह के गाने अश्लील और फूहड़ लगते हैं तो उन्हें प्रतिबंधित करने के बजाए उनका बहिष्कार करें। वह स्वत: खत्म हो जाएगा। तहलका पत्रिका की प्रबंध संपादक शोमा चौैधरी ने सत्र के दौरान अपने संबोधन में पॉप गायक हनी उर्फ रैपर सिंह के गानों और संगीत को लेकर पैदा हुए हालिया विवाद का जिक्र करते हुए कहा, किसी को भी संस्कृति और कला की अभिव्यक्ति से नहीं रोका जा सकता। अगर आप को हनी सिंह आपत्तिजनक लगता है तो उसके संगीत को बहिष्कार करें, वह स्वत: खत्म हो जाएगा, लेकिन उसे प्रतिबंधित नहीं किया जा सकता।