22 February 2019



राष्ट्रीय
आइआरएस संघ ने कहा, गडकरी माफी मांगें
27-01-2013
भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी के धमकी भरे बयान से आयकर विभाग के अधिकारी नाराज हैं। भारतीय राजस्व सेवा संघ ने गडकरी से माफी मांगने की मांग की है। संघ ने कहा कि गडकरी का बयान अधिकारियों के कामकाज में हस्तक्षेप है। प्रशासन को इसका संज्ञान लेना चाहिए। संघ ने गडकरी से बिना शर्त माफी मांगने की मांग की है। गौरतलब है कि गडकरी ने अपनी कंपनी पूर्ति ग्रुप पर आयकर विभाग द्वारा कांग्रेस के इशारे में कार्रवाई का आरोप लगाते हुए कहा था कि जब उनकी पार्टी की सरकार केंद्र में बनेगी तो उन्हें नहीं बख्शा जाएगा। गडकरी को पूर्ति ग्रुप में गलत तरीके से निवेश के आरोप की वजह से अध्यक्ष पद छोड़ना पड़ा था। गडकरी ने आयकर विभाग को धमकी भरे लहजे में कहा था कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कांग्रेस के इशारे पर मेरे खिलाफ साजिश रची। कभी नागपुर, कभी पुणे तो कभी दिल्ली में बैठकर मुझे अभी भी परेशान करने की कोशिश कर रहे हैं। मेरे पास अधिकारी के नाम हैं। आधे अधिकारी मेरे भी साथ हैं, जो मुझे बताते रहते हैं। याद रखना चाहिए कि कांग्रेस डूबती नैया है। उसकी सरकार का जाना तय है। कल हमारी सरकारी आएगी तो तुम्हें बचाने के लिए कोई सोनिया गांधी और चिदंबरम नहीं आएंगे। उन्होंने कहा था कि जब तक वह पार्टी के अध्यक्ष थे तब तक मर्यादा का पालन कर रहे थे। अब वे बंधनमुक्त हैं। अब कांग्रेस वाले जो कुछ भी करना चाहते हैं, करके दिखाएं।