19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
इंटेल साइंस प्रतियोगिता के 40 फाइनलिस्टों में 10 भारतीय मूल के
02-02-2013
वाशिंगटन। अमेरिका की प्रतिष्ठित इंटेल साइंस प्रतियोगिता के अंतिम 40 में भारतीय मूल के दस छात्रों ने अपनी जगह बनाई है। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले 1700 छात्रों में से महज 300 ही सेमीफाइनल तक पहुंच सके। इनमें से 40 को अंतिम प्रतियोगिता के लिए चुना गया है। इस प्रतियोगिता के सभी 40 प्रतिभागियों को छह लाख 30 हजार डॉलर (करीब तीन करोड़ 30 लाख रुपये) की छात्रवृति दी जाएगी। वहीं विजेता को इंटेल फाउंडेशन की ओर से अलग से एक लाख डॉलर (करीब 50 लाख रुपये) की धनराशि दी जाएगी। चुने गए 10 भारतीयों मे से तीन पाउलोमी भंट्टाचार्य, पवन मेहरोत्रा और शहाना वासुदेवन कैलिफोर्निया राज्य से हैं। दो अन्य भारतीय मूल के छात्र नाओमी शाह और राघव त्रिपाठी पोर्टलैंड से हैं। अन्य पांच में सूर्या भूपतिराजू, नेथान मुंदुकुर, अक्षय पद्मनभा, राजा सेल्वाकुमार और मयूरी श्रीधर शामिल हैं। चुने गए आखिरी 40 छात्र अमेरिका के 21 राज्यों के विभिन्न स्कूलों से हैं। कैलिफोर्निया और न्यूयॉर्क से इस बार 30 प्रतिशत प्रतिभागी आए हैं। यह प्रतियोगिता हाईस्कूल के छात्रों के लिए है। पिछले कुछ वर्षो में इंटेल साइंस प्रतियोगिता का महत्व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी बढ़ा है।