19 February 2019



राष्ट्रीय
आडवाणी पाक से आए तो मनमोहन कहां से आए
04-02-2013
कांग्रेस नेता शकील अहमद द्वारालालकृष्ण आडवाणी को लेकर इस विवादास्पद बयान पर कि वह प्रधानमंत्री बनने के लालच से पाकिस्तान छोड़कर भारत आए, पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा ने कहा कि यदि आडवाणी पाकिस्तान से आए तो वर्तमान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल कहां से आए। भाजपा के प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को कांग्रेस नेता शकील अहमद के विवादास्पद बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि कांग्रेस को याद रखना चाहिए कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व दिवंगत प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल पभी पाकिस्तान से ही भारत आए थे। उन्होंने कहा कि दुनिया में जहां कहीं भी हिंदू रह रहे हैं उसकी सुरक्षा की नैतिक जिम्मेदारी भारत की है। गौरतलब है कि कल कांग्रेस नेता शकील अहमद ने राजस्थान के सीकर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि आडवाणी को अगर इतनी ही चिंता होती तो पाकिस्तान में रहने वाले हिंदुओं की सेवा करते ना कि भारत आकर प्रधानमंत्री बनने का सपना देखते। उन्होंने कहा कि आडवाणी पाकिस्तान में पैदा ही नहीं हुए बल्कि उन्होंने बीए तक की शिक्षा वहीं ली। सिर्फ उन्होंने कानून की पढ़ाई मुंबई के किसी लॉ कॉलेज से की है। अहमद ने कहा कि बीए पास करने के बाद आदमी को होश हो जाता है। सोच-समझ आ जाती है। बीए पास करने के बाद आडवाणी के मन में हिंदुओं की सेवा करने की इच्छा जागी और वे भारत चले आए। अहमद ने आरोप लगाते हुए कहा कि पाकिस्तान में तीन फीसद हिंदू रहते हैं और वो हिंदुस्तान के हिंदुओं से ज्यादा दुखी हैं। अगर सचमुच आडवाणी को हिंदू समाज की सेवा करनी थी तो वह अपने घर के दुखी हिंदुओं की सेवा करते। लेकिन वहां तो सेवा के बदले मेवा नहीं मिलता। वहां वे एम, एमएलए और प्रधानमंत्री के उम्मीदवार नहीं बनते इसलिए हिंदुस्तान चले आए। उन्होंने कहा कि आडवाणी हिंदुओं की सेवा करने नहीं बल्कि अपनी सेवा करने आए हैं।