21 February 2019



प्रादेशिक
पशु चिकित्सकों की कमी को पूरा करने के लिये 199 एवीएफओ की भर्ती
04-02-2013

राज्य सरकार ने वर्षों से रिक्त पशु चिकित्सकों के पदों की पूर्ति के लिये 550 पदों पर भर्ती की कार्यवाही के साथ ही 199 नये सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्राधिकारी (एवीएफओ)े की नियुक्ति की हैं। यह जानकारी पशुपालन मंत्री श्री अजय विश्नोई ने आज यहाँ दी। उन्होंने बताया कि पशु चिकित्सकों की नियुक्ति में चूँकि अभी और समय लगना है, इसलिये शासन ने एवीएफओ के पदों पर भर्ती के उक्त आदेश जारी किये हैं। एवीएफओ की नियुक्तियाँ होने से पशु चिकित्सा संबंधी कार्य प्रभावित नहीं होगा तथा पशु चिकित्सा के क्षेत्र में सुधार आयेगा।

श्री अजय विश्नोई ने बताया कि एवीएफओ को पदों पर की गई नियुक्तियाँ नये नियम बनाकर की गई है। इसके पूर्व 11 वीं या 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण व्यक्तियों को एवीएफओ के पद पर नियुक्तियाँ प्रदान की गई थीं। लेकिन अब सरकार ने एवीएफओ के पद पर डिप्लोमाधारी चिकित्सक नियुक्त किये हैं। उन्होंने बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है जब एवीएफओ के पद पर डिप्लोमाधारियों की नियुक्तियाँ हुई हैं।

श्री विश्नोई के अनुसार मौजूदा सरकार ने एवीएफओ के रिक्त पदों की पूर्ति के लिये पिछले साल ही वेटनरी विश्वविद्यालय के माध्यम से पाँच नये डिप्लोमा कोर्स प्रारंभ किये हैं। दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स का पहला बैच अगले साल 2014 में आयेगा। तब और एवीएफओ के पद भरे जा सकेंगे। नियुक्त हुए 199 एवीएफओ का चयन भविष्य में यदि लोक सेवा आयोग के माध्यम से पशु चिकित्सक के पद पर होता है तो रिक्त होने वाले एवीएफओ के पद भी डिप्लोमाधारियों से भरे जायेंेगे। श्री विश्नोई ने बताया कि नये भर्ती नियम बनाकर जिन एवीएफओ की नियुक्तियाँ की गई हंै, उसमें डिप्लोमा के अलावा अन्य योग्यता अथवा ऊँची डिग्री को प्राथमिकता दी गई है।